झांसी : पुलिस ने चिरगांव में क्रेशर पर हुए अंधे कत्ल से उठाया पर्दा


Blog single photo
माता-पिता की बेइज्जती का बदला लेने को दिया था घटना को अंजाम 

झांसी, 10 जून(हि.स.)। चिरगांव थाना क्षेत्र में गायत्री स्टोन क्रेशर पर काम करने वाले युवक की सोते समय सिर कुचलकर हत्या के मामले का पुलिस ने गुरुवार को पर्दाफाश कर दिया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गिरफ्त में आए युवक ने बताया कि अपने माता-पिता के अपमान का बदला लेने के लिए उसने हत्या की और इस घटना को अंजाम दिया था। 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शिव हरि मीणा ने खुलासा करते हुए बताया कि विगत 30 मई की रात शिरोमन अहिरवार निवासी ग्राम सिया थाना चिरगांव जो गायत्री स्टोन क्रेशर में चौकीदार का काम करता था। उसकी अज्ञात व्यक्ति द्वारा लोहे की रॉड से सोते समय हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर जांच टीम का गठन करते हुए कार्यवाही शुरू कर दी थी। 

 थाना प्रभारी संजय गुप्ता ने मामले के खुलासे के लिए मृतक की कर्म कुंडली खंगाली। इस दौरान उन्हें तमाम अहम सुराग मिले। गुरुवार को पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर मामले में संदिग्ध रतनलाल अहिरवार के पेट्रोल पंप के पास से 18 वर्षीय कृष्णा विश्वकर्मा पुत्र मुन्नीलाल निवासी ग्राम सिया थाना चिरगांव को गिरफ्तार कर हिरासत में लिया। जब पुलिस द्वारा पूछताछ की गई तो पकड़े गए युवक ने अपना जुर्म स्वीकार करते हुए घटना में प्रयुक्त लोहे की रॉड भी पुलिस को बरामद कराई।
 
इसलिए दिया घटना को अंजाम

हत्या करने की वजह बताते हुए पकड़े गए युवक ने बताया कि कुछ दिनों पूर्व मृतक सिरोमन ने परिवारिक लड़ाई में उसके पिता की मारपीट कर दी थी। यही नहीं उसकी मां की भी बहुत बेइजत्ती की थी और उसकी ताई को मारा पीटा था। इस अपमान का बदला लेने के लिए कृृष्णा ने उसी दिन कसम खा ली थी। कृष्णा को यह बात पहले से जानकारी में थी कि सिरोमन स्टोन क्रेशर में चैकीदारी का कार्य करता है। 30 मई की रात को मौका मिलते ही उसने सिरोमन की हत्या कर दी और वहां से भाग निकला।
 
हिन्दुस्थान समाचार/महेश

You Can Share It :