सरोकार

Blog single photo

ऑपरेशन बज्र शक्ति के दौरान शहीद एनएसजी कमांडो सुरजन भंडारी के परिवार ने पीएम केयर में दिए 10 हजार

22/05/2020

दधिबल यादव
देहरादून, 22 मई (हि.स.)। गुजरात में अक्षरधाम मंदिर पर हुए हमले के दौरान आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हुए एनएसजी कमांडो शहीद सुरजन सिंह भंडारी के परिवार ने कोरोना से बचाव एवं रोकथाम के लिए पीएम केयर में 10 हजार रुपये दान दिये हैं। 

शहीद सुरजन सिंह भंडारी के भाई कंचन सिंह भंडारी भी आईटीबीपी में एएसआई हैं। मौजूदा समय में उनकी तैनाती पंजाब में है। कंचन सिंह भंडारी ने "हिन्दुस्थान समाचार" को बताया कि वैश्विक महामारी से बचाव एवं रोकथाम की इस लड़ाई में देशवासियों को अपनी सामर्थ्य के अनुसार जरूर योगदान देना चाहिए। इसलिए परिवार ने तय किया कि सुरजन सिंह भंडारी की याद में हम लोग 10 हजार रुपये पीएम केयर में दान करते हैं। यह दान राशि गौचर (जनपद चमोली) के भारतीय स्टेट बैंक शाखा के माध्यम से भेजी गई है। 
गौरतलब है कि 24 सितम्बर, 2002 को गुजरात के गांधीनगर स्थित अक्षरधाम मंदिर में आतंकियों ने अंधाधुंध गोलीबारी करते हुए हमला किया था, जिसमें 39 श्रद्धालु मारे गए थे और 100 से अधिक निर्दोष लोग घायल हुए थे। उस समय नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे और एनएसजी टीम को दिल्ली से विशेष विमान से अहमदाबाद बुलाया गया था। एनएसजी के कमांडो दस्ते ने इस आपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम दिया लेकिन उसे अपने जो जवान खोने पड़े, उनमें शहीद सुरजन सिंह भंडारी भी थे। हालांकि उस समय सुरजन सिंह भंडारी बुरी तरह जख्मी थे और एम्स (दिल्ली) में उन्हें भर्ती कराया गया। जहां वह लम्बे समय तक कोमा में रहे। 19 मई, 2004 को वह जिंदगी की बाजी हार गए। उस समय सुरजन सिर्फ 24 साल की उम्र में इतिहास रच कर वीरगति को प्राप्त हो गए। उन्हें मरणोपरांत कीर्ति चक्र से सम्मानित किया गया।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top