क्षेत्रीय

Blog single photo

यूपी बार काउंसिल अध्यक्ष दरवेश सिंह की हत्या की निंदा

12/06/2019

दधिबल 
नोएडा, 12 जून (हि.स.)। अखिल भारतीय अधिवक्ता परिषद के राष्ट्रीय मंत्री सत्यप्रकाश राय और उत्तर प्रदेश सरकार के अपर महाधिवक्ता कृष्ण पहल ने यूपी बार काउंसलिंग की नवनिर्वाचित अध्यक्ष दरवेश यादव की साथी अधिवक्ता द्वारा गोली मारकर हत्या करने की घटना की निंदा की है। 
एक वक्तव्य में राय ने कहा कि उत्तर प्रदेश अधिवक्ता परिषद भी इस घटना की घोर भर्त्सना एवं निंदा करती है। दरवेश यादव की मृत्यु अधिवक्ता समाज के लिए एक अपूरणीय हानि है। महिलाओं का विधि व्यवसाय में सम्मान बढ़ाने वाली सुश्री दरवेश यादव ने प्रदेश में बार कौंसिल के अध्यक्ष पद को सुशोभित कर सबको सम्बल प्रदान किया। उनकी असमय मृत्यु पर अधिवक्ता परिषद उत्तर प्रदेश शोक संतप्त परिवार के प्रति सांत्वना प्रकट करती है। 
आगरा की एडवोकेट दरवेश सिंह यूपी बार काउंसिल की पहली महिला अध्यक्ष चुनी गई थीं। यूपी बार काउंसिल का चुनाव प्रयागराज में 9 जून को बार कौंसिल भवन में हुआ। अध्यक्ष पद पर आगरा की एडवोकेट दरवेश और हरिशंकर सिंह को 12-12 वोट मिले। बराबर मत के आधार पर दोनों को छह-छह माह के लिए चयनित किया गया। परंपरा व सहमति के आधार पर तय किया गया कि दरवेश सिंह पहले छह माह और हरिशंकर सिंह शेष छह माह अध्यक्ष रहेंगे। 
दरवेश सिंह बुधवार को आगरा पहुंचीं। दीवानी में उनका स्वागत हुआ। वे वरिष्ठ अधिवक्ता अरविंद कुमार मिश्रा के चैंबर में बैठी हुई थीं। बताया जाता है कि एडवोकेट मनीष शर्मा यूपी बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश सिंह के पास पहुंचे। उन्होंने फायर किये और गोली लगते ही दरवेश वहीं गिर गईं। इसके बाद एडवोकेट मनीष शर्मा ने खुद को भी गोली मार ली। 
दरवेश सिंह को गंभीर हालत में पुष्पांजलि हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया है। बताया गया है कि उन्हें तीन गोली लगी थीं, इसमें से एक गोली सिर में और एक गोली सीने में लगी थीं। उधर , एडवोकेट मनीष सिंह रेनबो अस्पताल में भर्ती है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।
2017 में रह चुकी थीं कार्यकारी अध्यक्ष 
मूल रूप से एटा निवासी दरवेश सिंह ने आगरा कॉलेज से एलएलबी और एलएलएम किया। वर्ष 2004 से दीवानी में प्रैक्टिस कर रही हैं। दरवेश सिंह 2017 में बार काउंसिल ऑफ यूपी की कार्यकारी अध्यक्ष रह चुकी थीं। इसके बाद साल 2018 में बार काउंसिल के चुनाव में दरवेश सिंह दूसरी बार सदस्य चुनी गईं।
हिन्दुस्थान समाचार


 
Top