अपराध

Blog single photo

मेट्रो में चोरी करने वाली तीन महिलाएं गिरफ्तार

19/02/2020

अश्वनी शर्मा  
नई दिल्ली, 19 फरवरी (हि.स.)। मेट्रो में चोरी की वारदात करने वाली एक महिला गैंग का मेट्रो पुलिस ने पर्दाफाश किया है। पुलिस ने इस गैंग की तीन महिलाओं को गिरफ्तार कर उनके पास से 50 ग्राम सोना बरामद किया है। यह गहने उन्होंने एक महिला के बैग से दो दिन पहले चोरी किये थे। 

मेट्रो डीसीपी विक्रम पोरवाल ने बुधवार को बताया कि 17 फरवरी को मथुरा निवासी सोनी देवी मेट्रो में सफर कर रही थी। वह द्वारका से राजीव चौक स्टेशन जाने के लिए मेट्रो में सवार हुईं थी। उनके पास मौजूद बैग में 50 ग्राम सोने के गहने रखे हुए थे। राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर जब वह मेट्रो से उतरी तो उन्होंने देखा कि बैग से गहने गायब है। इसके बाद उन्होंने मामले की शिकायत मेट्रो पुलिस से की। 

सीसीटीवी फुटेज की मदद से हुई गिरफ्तारी
डीसीपी शिकायत पर राजीव चौक मेट्रो थाने में केस दर्ज किया गया। नार्थ मेट्रो एसीपी बीआर सांखला की देखरेख में एसआई कुलदीप कुमार, कांस्टेबल सुभाष, हनुमान, लालाराम, महिला कांस्टेबल मोनिका, ज्योति और अनीता ने इस मामले की जांच शुरू की। सबसे पहले द्वारका और राजीव चौक मेट्रो स्टेशन के बीच के सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। इसमें देखा गया कि करोल बाग स्टेशन से तीन संदिग्ध महिलाएं मेट्रो में सवार हुई हैं। इन महिलाओं पर पुलिस का शक गया। फेस रेकॉग्निजेशन सिस्टम से इन तीनों महिलाओं की पहचान कर ली गई। इसके बाद गुप्त सूचना पर इन तीनों महिलाओं को शादीपुर मेट्रो स्टेशन के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। इनके पास से चोरी किए गए गहने भी बरामद हो गए हैं।
 
ऐसे देती थी वारदात को अंजाम 
पूछताछ में महिलाओं ने पुलिस को बताया कि वह मेट्रो, बस अड्डे एवं बाजार में चोरी की वारदात को अंजाम देती हैं। इस गैंग की सरगना सविता पहले भी कई चोरी की वारदातों में शामिल रही है। वह पहले अपने शिकार को चिन्हित कर लेते हैं और इसके बाद भीड़ वाली जगह पर उसे निशाना बनाते हैं। गिरफ्तार की गई महिलाओं में से एक महिला गर्भवती है और वह शिकार का ध्यान बंटाने का काम करती है। 

आनंद पर्वत का है यह गैंग 
गिरफ्तार की गई महिलाओं की पहचान लता, सविता और कविता के रूप में की गई है। तीनों महिलाएं आनंद पर्वत की रहने वाली है और पहले से आपराधिक वारदातों में लिप्त रही हैं। इनके पति शराब पीने और जुआ खेलने के आदी हैं। घर का खर्च चलाने के लिए वह इस तरीके से वारदात को अंजाम देती थी। 

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top