खेल

Blog single photo

विशाखापट्टनम टेस्ट : चौथे दिन का खेल खत्म, भारत को जीत के लिए चाहिए नौ विकेट

05/10/2019

-दक्षिण अफ्रीका को आखिरी दिन चाहिए 384 रन

वीरेन्द्र सिंह
विशाखापट्टनम, 05 अक्टूबर (हि.स.)। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच विशाखापट्टनम में तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला खेला जा रहा है। शनिवार को चौथे दिन भारत ने अपनी दूसरी पारी चार विकेट के नुकसान पर 323 रन बनाकर घोषित की। इस तरह भारत ने पहली पारी के आधार पर 71 रनों की मिली बढ़त के चलते दक्षिण अफ्रीका के सामने जीत के लिए 395 रनों का लक्ष्य रखा। इसके जवाब में चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक मेहमान टीम ने दूसरी पारी में एक विकेट गंवाकर 11 रन बना लिए हैं। क्रिज पर एडेन मार्कराम तीन और थेनिस डि ब्रून पांच रन बनाकर खड़े हैं। आखिरी दिन भारत को जीत के लिए नौ विकेट चाहिए, जबकि दक्षिण अफ्रीका को मैच जीतने के लिए 384 रनों की जरूरत है। 

विशाखापट्टनम में खेले जा रहे मुकाबले के चौथे दिन दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 431 रन पर समेटने के बाद भारत ने अपनी पहली पारी (सात विकेट पर 502 रन) के आधार पर 71 रन की लीड ली। इसके बाद सलानी बल्लेबाज रोहित शर्मा की ऐतिहासिक 127 रन की शतकीय पारी के दम पर  भारत ने 67 ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर 323 रन बनाकर पारी की घोषणा कर दी।

टेस्ट मैच के चौथे दिन दक्षिण अफ्रीका ने तीसरे दिन के स्कोर आठ विकेट पर 385 रन से आगे खेलना शुरू किया। मुथस्वामी और केशव महाराज ने भारतीय गेंदबाजों को संभल कर खेला लेकिन जल्द ही अश्विन ने भारत को चौथे दिन की पहली सफलता केशव महाराज को आउट कर दिलाई। केशव के आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने के लिए कगिसो रबाडा आए। उन्होंने मुथस्वामी के साथ मिलकर आखिरी विकेट लिए अहम 35 रन जोड़े। इस बीच एक बार फिर अश्विन ने रबाडा को एलबीडब्लू आउट कर दक्षिण अफ्रीका की पारी को 431 रन पर समेट दिया। अश्विन ने इस पारी में 145 रन देकर कुल सात विकेट चटकाए।

इसके बाद भारत ने अपनी दूसरी पारी शुरू की। पहली पारी में दोहरा शतक लगाने वाले मयंक अग्रवाल दूसरी पारी में महज सात रन ही बना पाए। मयंक को केशव महाराज ने डुप्लेसी के हाथों कैच आउट कराया। मयंक के विकेट के बाद रोहित शर्मा और चेतेश्वर पुजारा ने स्कोर बोर्ड को आगे बढ़ाया।  दोनों के बीच 169 रन की साझेदारी हुई। भारत को दूसरा झटका पुजारा के रूप में लगा। पुजारा को वर्नोन फिलेंडर ने आउट किया। उन्होंने 148 गेंदों में 13 चौके और 2 छक्कों की मदद से 81 रन बनाए। नए बल्लेबाज रवींद्र जडेजा आए। जडेजा को टीम के स्कोर बोर्ड को तेजी से बढ़ाने के लिए बल्लेबाजी क्रम में ऊपर भेजा गया। रोहित ने इस टेस्ट की दूसरी पारी में भी शतक पूरा किया। 

शतक पूरा करने के बाद रोहित और खतरनाक हो गए। रनगति बढ़ाने के प्रयास में रोहित 127 रन के निजी स्कोर पर स्टंप आउट हुए। रोहित को दूसरी पारी में भी क्विंटन डिकॉक ने केशव महाराज की गेंद पर स्टंप आउट किया। इसके बाद क्रीज पर कप्तान विराट कोहली आए। जडेजा और विराट ने तेज रफ्तार में बल्लेबाजी की लेकिन 32 गेंदों में 40 रन बनाकर जडेजा रबाडा की गेंद पर बोल्ड होकर पवेलियन लौट गए। इसके बाद बल्लेबाजी के लिए आए अजिंक्य रहाणे ने भी तेजी से खेलना शुरू कर किया। अंत में विराट और रहाणे ने मिलकर 37 रन जोड़े। इसके बाद विराट ने 323/4 रन पर पारी घोषित कर दी। इस तरह भारत ने पहली पारी के आधार पर 71 रनों की मिली बढ़त के चलते दक्षिण अफ्रीका को जीत के लिए 395 रनों का लक्ष्य दिया। दक्षिण अफ्रिका की तरफ से दूसरी पारी में केशव महाराज ने दो, कगिसो रबाडा और  वर्नोन फिलेंडर ने एक-एक विकेट लिया।

395 रनों के लक्ष्य के जवाब में चौथे दिन का खेल खत्म होने तक मेहमान टीम ने दूसरी पारी में एक विकेट गंवाकर 11 रन बना लिए हैं। एडेन मार्कराम तीन और थेनिस डि ब्रून पांच रन बनाकर क्रीज पर हैं। 

हिन्दुस्थान समाचार 


 
Top