क्षेत्रीय

Blog single photo

समुद्री तूफान ‘बुलबुल’ का ओडिशा पर होगा आंशिक प्रभाव

07/11/2019

-उत्तर व तटीय जिले में तूफान की गति 80 से 90 किमी होने की आशंका

समन्वय नंद
भुवनेश्वर, 07 नवम्बर (हि.स.)। समुद्री तूफान बुलबुल आगामी 24 घंटों में उग्र रूप धारण कर पश्चिम बंगाल व बांग्लादेश की ओर अग्रसर होगा। इसके प्रभाव में शुक्रवार से तटीय जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा शनिवार को उत्तरी तटीय जिलों में 80 से 90 किमी प्रति घंटे की गति से तेज हवा बहने की आशंका है। राज्य के विशेष राहत कमिश्नर प्रदीप जेना ने गुरुवार को भुवनेश्वर में एक पत्रकार सम्मेलन में यह जानकारी दी।

इससे पहले यह बताया जा रहा था कि तूफान बुलबुल का ओडिशा पर कोई खास प्रभाव नहीं होगा। कुछ स्थानों पर बारिश होने की संभावना जतायी जा रही थी लेकिन मौसम विभाग के ताजा अनुमान के अनुसार हालांकि तूफान ओडिशा में लैंडफाल नहीं करेगा लेकिन उत्तरी तटीय ओडिशा के विभिन्न जिले जैसे बालेश्वर, भद्रक, केन्द्रापडा व जगतसिंहपुर जिले में तेज बारिश व तेज हवा बहने का अनुमान है।

जेना ने कहा कि शुक्रवार सुबह से पुरी, केन्द्रापडा, जगतसिंहपुर व कटक जिले के कुछ स्थानों पर बारिश शुरू हो जाएगी।

इसी तरह 9 नवम्बर अर्थात शनिवार को पुरी, केन्द्रापडा, जगतसिंहपुर व कटक के अलावा भद्रक, बालेश्वर व मयूरभंज जिले में भारी बारिश होगी। इस दौरान इन जिलों में 80 से 90 किमी तक तेज हवा बहने की संभावना है । यह स्थिति 10 नवम्बर तक रहेगी।

इस कारण राज्य के सभी बंदरगाहों में दो नम्बर खतरे का संकेत दिया गया है। इस दौरान समुद्र अशांत रहने के कारण मछुआरों को समुद्र के अंदर न जाने की सलाह दी गई है ।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top