राष्ट्रीय

Blog single photo

11 नवम्बर को एनआरसी के खिलाफ तृणमूल की रैली

07/11/2019

-जॉइंट एंट्रेंस में बांग्ला शामिल करने को लेकर भी सभा 


ओम प्रकाश

कोलकाता, 07 नवम्बर (हि.स.)। 2021 के विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी राज्यभर में जनसंपर्क और राजनीतिक माहौल बनाने की रणनीति में जुटी है। उन्होंने गुरुवार को स्पष्ट कर दिया है कि 11 नवम्बर को वह कोलकाता में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ निकाली जाने वाली इस रैली का नेतृत्व करेंगी। इसके अलावा उसी दिन जॉइंट एंट्रेंस में बांग्ला भाषा को शामिल करने को लेकर भी मांग करते हुए प्रत्येक ब्लॉक में पार्टी की ओर से जनसभा की जाएगी। 


तृणमूल भवन में अपनी पार्टी के विधायकों और सांसदों के साथ बैठक के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि जॉइंट एंट्रेंस की परीक्षा में हिंदी और अंग्रेजी पहले से थी। बाद में इसमें गुजराती को शामिल किया गया। मुझे गुजराती से कोई आपत्ति नहीं है लेकिन उसके साथ ही बाकी राज्यों की भाषाओं को भी क्यों नहीं शामिल किया जाएगा?


उन्होंने कहा कि शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने जॉइंट एंट्रेंस में प्रश्न पत्र बांग्ला में भी मुहैया कराने संबंधी चिट्ठी केंद्र सरकार को लिखी है जिसके जवाब में बताया गया है कि महाराष्ट्र और गुजरात ने अपनी भाषाओं को शामिल करने के लिए चिट्ठी लिखी थी। लेकिन मराठी भाषा में जॉइंट एंट्रेंस का प्रश्न पत्र क्यों नहीं आया? इसके बाद मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि वर्तमान केंद्र सरकार देश भर की शिक्षा नीति में बड़ा बदलाव कर रही है। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल समेत अन्य राज्यों की भाषाओं को भी जॉइंट एंट्रेंस की परीक्षा में शामिल करना होगा। 


मुख्यमंत्री ने कहा कि गुजराती में परीक्षा देने पर गुजरात के छात्र अधिक नम्बर पाएंगे। बंगाल के छात्रों को यह मौका नहीं मिल रहा है। तमिल, मराठी, ओडिशा के लोगों को भी मौका क्यों नहीं मिलना चाहिए? राजस्थान में भी स्थानीय भाषा है। बिहार यूपी में भी भोजपुरी चलती है। सभी भाषाओं का सम्मान किया जाना चाहिए। इसके साथ ही एनआरसी का जिक्र करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा के लोग पश्चिम बंगाल में एनआरसी का दहशत फैला रहे हैं। लोग इसके डर से आत्महत्या कर रहे हैं। इसके खिलाफ 11 नवम्बर को कोलकाता में रैली निकाली जाएगी जिसका नेतृत्व वह खुद करेंगी। 


हिन्दुस्थान समाचार 


 
Top