व्यापार

Blog single photo

जनता कर्फ्यू को कारोबारी तैयार, व्‍यापारियों को कोरोना नकद लोन दें वित्त मंत्री: कैट

21/03/2020

प्रजेश शंकर 

नई दिल्‍ली, 21 मार्च (हि.स.)। करोना वायरस की महामारी को रोकने के लिए कन्‍फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के बैनर तले तीन दिवसीय व्यापार  बंद के पहले दिन शनिवार को दिल्ली के अधिकांश थोक एवं रिटेल बाजार पूरी  तौर पर बंद रहे। वहीँ, कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया कि   प्रधानमंत्री के 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के आग्रह को कैट ने अपना समर्थन  दिया है, जिसकी वजह से रविवार को देश के 7 करोड़ व्यापारी अपना कारोबार  बंद रखेंगे और उनके करीब 40 करोड़ कर्मचारी भी अपने घरों पर रहकर जनता कर्फ्यू में शामिल होंगे। देश के करीब 40 हजार से ज्यादा व्यापारिक संगठन भी  जनता कर्फ्यू में शामिल होंगे। इस बंद में दवा, डेयरी और किराना दुकानों को बंद से मुक्त रखा गया है, ताकि आम लोग अपनी दैनिक जरूरतों का सामान आसानी से ले सकें। 

इसी बीच कैट ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एवं कोविड-19 टास्क फोर्स की अध्यक्षा से आग्रह किया है कि सप्लाई चेन को दुरुस्त रखने के लिए बैंकों को निर्देशित किया जाए की व्यापारियों को रियायती ब्याज दर पर कोरोना नकद  लोन दें। कैट ने ये भी आग्रह किया है की कोरोना संकट को देखते हुए सरकार आयकर एवं जीएसटी के सभी प्रकार की रिटर्न दाखिल करने तथा टैक्स जमा कराने की तारीखों को 30 जून तक बढ़ाया जाए। वहीँ सभी प्रकार के बैंक लोन, ईएमआई की अदायगी को आगामी 6 महीनों तक के लिए स्थगित किया जाए  और स्थगन अवधि का कोई ब्‍याज नहीं लिया जाए। 

खंडेलवाल ने बताया की कैट ने देशभर के व्यापारियों को एक एडवाइजरी भेजी है, जिसमें आग्रह किया गया है कि कोरोना के कारण यदि व्यापार बंद रखना पड़ता है तो किसी भी कर्मचारी का वेतन न काटा जाए तथा किसी को भी नौकरी से निकला न जाए। उन्होंने ये भी कहा की देशभर के व्यापारियों की सप्लाई चेन में प्रचुर मात्रा में सामान उपलब्ध है। इसलिए लोगों को किसी प्रकार की पैनिक खरीददारी नहीं करनी चाहिए, ताकि अन्य लोग जरूरी सामान से वंचित न हो जाएं। गौरतलब है कि दिल्ली में लगभग 15 लाख छोटे बड़े व्यापारी हैं, जो लगभग 30 लाख से अधिक लोगों   को रोज़गार देते हैं। तीन दिन का दिल्ली में व्यापार बंद इन सभी लोगों को सामूहिक संक्रमण से बचाने में बेहद उपयोगी होगा। 

उल्‍लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने राष्ट्र को दिए संबोधन में ये  आग्रह किया है कि आगामी कुछ दिनों के लिए सभी लोग अपने घर से काम   करें और करोना के सामूहिक संक्रमण होने से बचें। इसके अलावा एक दिन के  लिए जनता कर्फ्यू रविवार, 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात्री के 9 बजे तक के लिए स्‍वयं लागू करने का आह्वान किया है। 

हिन्‍दुस्‍थान समाचार


 
Top