चुनावी विशेष

Blog single photo

हमीरपुर लोकसभा सीट पर फिर खिला कमल

23/05/2019


-पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल की 246871 मतों से शानदार जीत पर समर्थक जश्न में डूबे
-पूरे संसदीय क्षेत्र में हर-हर मोदी के लगाये जा रहे नारे, पटाखे भी दगे
पंकज मिश्रा
हमीरपुर, 23 मई (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के 47-हमीरपुर लोकसभा सीट पर भाजपा का कमल खिल गया है। गठबंधन उम्मीदवार ने अपनी पराजय देखते हुये मैदान छोड़ दिया है। भाजपा के उम्मीदवार पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल 246871 मतों से विजयश्री हासिल कर ली है।  भाजपा की शानदार जीत को लेकर यहां सामूहिक हत्याकांड के वादी एवं भाजपा नेता राजीव शुक्ला ने बड़ी संख्या में समर्थकों के साथ मोदी के  नारे लगाये है। समर्थक ढोल नगारों के बीच सड़क पर डांस भी कर रहे है। 
इस बार लोकसभा चुनाव में 14 उम्मीदवारों ने भाग्य आजमाया था। इनमें गठबंधन के उम्मीदवार दिलीप कुमार सिंह को पूरे संसदीय क्षेत्र से 325412 मत मिले है जबकि भाजपा उम्मीदवार पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल को 572283 मत मिले है। कांग्रेस के प्रीतम सिंह लोधी किसान को 113990 मत मिले है। इसके अलावा बसपा के बागी उम्मीदवार संजय कुमार साहू को 24657 मत मिले है। नोटा में 15099 मत पड़े है। भाजपा ने जहां 234967 मतों से विजयश्री हासिल कर ली है वहीं अबकी बार हमीरपुर, महोबा, तिंदवारी संसदीय क्षेत्र में भाजपा को 52.75 फीसद मत मिले है। गठबंधन के दिलीप कुमार सिंह को सिर्फ 29.99 फीसद मत मिले है। कांग्रेस को 10.51 फीसद मत हासिल हुये है। 
उल्लेखनीय है कि सोलहवीं लोकसभा क्षेत्र के हुये चुनाव में हमीरपुर-महोबा-तिन्दवारी संसदीय क्षेत्र में किसी भी प्रत्याशी के पास कोई चुनावी मुद्दा नहीं था। समाजवादी पाटी के प्रत्याशी जहां सरकार की उपलब्धियों को भुनाने के लिये पूरे संसदीय क्षेत्र में साल भर से पसीना बहाते रहे वहीं लोधी बिरादरी के दम पर प्रीतम सिंह लोधी किसान भी एड़ी चोटी का जोर लगाते रहे बावजूद मोदी की आंधी में यह टिक नहीं पाये थे। सोशल इंजीनियर के फार्मूले को दोहराने के लिये बसपा सुप्रीमो मायावती ने विधायक राकेश गोस्वामी पर दांव लगाया था तो संसदीय क्षेत्र के मतदाताओं खासकर ब्राम्हण और पढ़े लिखे दलितों ने उन्हें सिरे से नकार दिया था। मोदी की लहर में क्षेत्रीय दलों की हर दांव और समीकरण धरे के धरे रह गये थे। वर्ष 2014 के चुनाव में संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस, आप आदमी पार्टी व टीएमसी सहित तेरह प्रत्याशियों की इतनी दुर्दशा हो गयी कि यह लोग अपनी जमानत भी नहीं बचा सके। भाजपा को जहाँ संसदीय सीट मिलने के साथ ही 47.045 फीसदी मत मिले वहीं कांग्रेस का वोटों का ग्राफ नीचे गिरकर 8.11 फीसदी रह गया है। सपा ने भी अपना जनाधार खोते हुये 19.39 फीसदी मत ही झटक सकी जबकि बसपा की झोली में 18.28, आम आदमी पार्टी को मात्र 1.0 फीसदी वोट मिल सके। अन्य निर्दलीय उम्मीदवारों को भी एक फीसदी से भी कम वोट मिले थे।

2019 के लोकसभा चुनाव परिणाम एक नजर में
-------------------------
दल  उम्मीदवार  कुल प्राप्त मत प्रतिशत 
------------------------
बसपा दिलीप सिंह  325412  29.99
भाजपा पुष्पेन्द्र चंदेल 572283 52.75
कांग्रेस प्रीतम सिंह  113990  10.51
संजय साहू         24657   2.27
नोटा                15099  1.39
-----------------------
 
2014 के लोकसभा चुनाव नतीजे एक नजर में
----------------------------
उम्मीदवार व दल              कुल प्राप्त मत    
----------------------------
पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल (भाजपा)   453884 
प्रीतम सिंह लोधी (कांग्रेस)      78229
विशम्भर प्रसाद निषाद (सपा) 187096
राकेश कुमार गोस्वामी (बसपा) 176356
अतुल कुमार प्रजापति (आप)     9663
अविनाश मिश्रा (टीएमसी)        6297
इनमें से कोई नहीं(नोटा)         8589
----------------------------
हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/ सुनीत 


 
Top