अंतरराष्ट्रीय

Blog single photo

कोरोनावायरस संभवत: कभी खत्म नहीं हो : डब्ल्यूएचओ

14/05/2020

राकेश सिंह



नई
दिल्ली
, 14 मई
(हि.स.)।
 विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी देते हुए कहा कि संभव है नोवल
कोरोनावायरस कभी खत्म ही न हो
 
और ऐसे में  दुनिया भर की आबादी को इसके
साथ रहना सीखना होगा।



दुनिया
भर के कुछ देशों ने नोवल कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन
प्रतिबंधों को धीरे-धीरे कम करना शुरू कर दिया है। लेकिन डब्ल्यूएचओ ने कहा कि इसे
कभी भी पूरी तरह से मिटाया नहीं जा सकता है।



कोरोनावायरस
पहली बार चीन के वुहान शहर में पिछले साल के अंत में उभरा और तब से पूरी दुनिया
में 42 लाख से अधिक लोगों को संक्रमित किया और लगभग 300
,000 लोगों की इससे मौत हो गई है।



डब्ल्यूएचओ
के आपात निदेशक माइकल रेयान ने कहा
, "हमारे पास पहली बार मानव आबादी में प्रवेश करने
वाला एक नया वायरस है और इसलिए यह अनुमान लगाना बहुत कठिन है कि हम कब इस पर विजय
प्राप्त कर लेंगे।"



उन्होंने
जिनेवा में एक आभासी संवाददाता सम्मेलन में बताया
, "यह वायरस हमारे समुदायों में केवल एक और
स्थानिक वायरस में बदल सकता है और यह वायरस कभी खत्म नहीं किया जा सकता है। एचआईवी
दूर नहीं हुआ है
, लेकिन हम इस वायरस के साथ जीवन बिताते आए
हैं।"



कोरोनावायरस
संकट शुरू होने के बाद आधे से अधिक मानवता को किसी न किसी रूप में लॉकडाउन में रखा
गया है। डब्ल्यूएचओ ने चेतावनी दी कि इस बात की कोई गारंटी
  नहीं है कि प्रतिबंधों में
ढील देने से संक्रमण की दूसरी लहर शुरू नहीं होगी।



डब्ल्यूएचओ
के प्रमुख टेड्रोस एडनोम घेब्येयस ने कहा
, "कई देश विभिन्न तरह के उपायों से लॉकडाउन से
बाहर निकलना चाहेंगे।लेकिन हमारी सिफारिश है कि अभी भी किसी भी देश में सतर्कता
उच्चतम स्तर पर होनी चाहिए।"



हिन्दुस्थान
समाचार



 


 
Top