युगवार्ता

Blog single photo

हे राम, जयराम, जयश्रीराम

30/08/2019

हे राम, जयराम, जयश्रीराम

कृष्णमोहन सिंह

कांग्रेस के दो बड़े नेता जयराम रमेश व अभिषेक मनु सिंघवी को लेकर पार्टी में तरह-तरह की बातें होने लगी हैं। जयराम ने 21 अगस्त को एक कर्यक्रम में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काम के महत्व को स्वीकार नहीं करना तथा हर समय उनको खलनायक की तरह पेश करने से कुछ हासिल होने वाला नहीं है। उनकी बात को आगे बढ़ाते हुए 22 अगस्त को अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट किया, मैंने हमेशा कहा है कि मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत है। सिर्फ इसलिए नहीं कि वह देश के प्रधानमंत्री हैं, बल्कि ऐसा करके एक तरह से विपक्ष उनकी मदद करता है।
कार्य हमेशा अच्छा, बुरा या मामूली होता है। कार्य का मूल्यांकन व्यक्ति नहीं बल्कि मुद्दों के आधार पर होना चाहिए।’ जयराम व अभिषेक के इस तरह के विचार से सहमत नहीं होने वाले कई कांग्रेसी नेताओं ने इसकी शिकायत पार्टी आलाकमान से की है। शिकायत करने वाले नेताओं ने पार्टी आलाकमान से कहा कि जयराम व सिंघवी से पूछा जाना चाहिए कि वे गिनकर बतावें कि मोदी ने मुख्यमंत्री रहते यूपीए सरकार व उसके प्रधानमंत्री के कितने कार्यों की प्रशंसा की थी। इसके बाद से कई कांग्रेसी नेता अब जयराम को जयश्रीराम कहने लगे हैं। लगता है सिंघवी व जयराम भविष्य की राजनीति के मद्देनजर यह सब कर रहे हैं।


 
Top