युगवार्ता

Blog single photo

थूथुकुडी में बनेगा इसरो का दूसरा अंतरिक्ष केंद्र

24/12/2019

थूथुकुडी में बनेगा इसरो का दूसरा अंतरिक्ष केंद्र


भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी इसरो का कार्यभार दिनोंदिन बढ़ रहा है। इस क्रम में उसे और केंद्र, संसाधन व वैज्ञानिकों की जरूरत पड़ेगी। इसलिए इसरो ने अपना दूसरा केंद्र भी बनाने का निश्चय किया है। यह दूसरा केंद्र तमिलनाडु के कुलसेकरपट्टिनम के पास थूथुकुडी में बनेगा। इस अंतरिक्ष केंद्र के लिए भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है। बता दें कि अमेरिका, रूस व दूसरे अन्य विकसित देशों में कई अंतरिक्ष केंद्र हैं। इसलिए अपने देश में भी एक और अंतरिक्ष केंद्र की आवश्यकता महसूस की जा रही थी। गौरतलब है कि इसरो का पहला और एकमात्र सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा में स्थित है।
जिसे साल 1971 में स्थापित किया गया था। इस समय इसके दो सक्रिय लॉन्चपैड हैं। यहीं से इसरो अपने ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) और जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (जीएसएलवी) रॉकेट लॉन्च करता है। ऐसे में नए अंतरिक्ष केंद्र को लघु उपग्रह प्रक्षेपण यान के लॉन्च के लिए उपोयग में लाया जा सकेगा। इससे देश न केवल अंतरिक्ष क्षेत्र में नए कीर्तिमान रचेगा बल्कि इसरो के पहले केंद्र का वर्क लोड भी कम हो जाएगा। नया केंद्र यानी थूथुकुडी की समुद्र के साथ निकटता रॉकेट को सीधे दक्षिण की ओर लॉन्च करने के लिए आदर्श स्थिति प्रदान करेगी। इसके अलावा यह भूमध्य रेखा के निकट भी है। क्योंकि रॉकेट लॉन्च केंद्र पूर्वी तट पर व भूमध्य रेखा के पास होना चाहिए।


 
Top