क्षेत्रीय

Blog single photo

म.प्र : राजघाट पर बिजली के संपर्क में आई नाव, दो लोगों की मौत, तीन घायल

12/08/2019

-घटना के बाद लोगों में आक्रोश, मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारी 
मुकेश तोमर
बड़वानी, 12 अगस्त (हि.स.)। सरदार सरोवार बांध में जल भंडारण क्षमता बढ़ाने से मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले में नर्मदा नदी स्थित राजघाट टापू बन गया है। यहां सोमवार को सुबह नर्मदा नदी में एक नाव बिजली के तारों के संपर्क में आ गई। इससे नाव में सवार डूब प्रभावित कुकरा गांव के दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि तीन लोग बुरी तरह झुलसकर घायल हो गए। सूचना मिलने पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। उन्हें स्थानीय लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा। फिलहाल आक्रोशित लोगों का हंगामा जारी है और अधिकारी उन्हें समझाने का प्रयास कर रहे हैं।

दरअसल डूब प्रभावित क्षेत्रों के लोगों को जिला प्रशासन की टीम द्वारा सुरक्षित इलाकों में ले जाने का काम किया जा रहा था। बताया जा रहा है कि जिला प्रशासन ने इसके लिए नाव की भी व्यवस्था की है, लेकिन सोमवार को सुबह डूब प्रभावितों को सरकारी नाव से नहीं जाने दिया जा रहा था। इसीलिए कुकरा गांव के कुछ लोग निजी नाव से नर्मदा नदी स्थित राजघाट जा रहे थे। इसी दौरान बिजली के तार पानी से छू गए। सप्लाई चालू होने के कारण नाव में करंट आ गया। इससे नवा सवार दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। मृतकों के नाम राजघाट निवासी चिमन पुत्र नरवर दरबार और संतोष पुत्र लालसिंह बताये गए हैं। जबकि तीन अन्य लोग घायल हो गए, जिन्हें स्थानीय लोगों ने बड़वानी के जिला अस्पताल में भर्ती कराया। हालांकि उनके नाम नहीं पता चल सके हैं। हादसे के बाद लोगों में भारी गुस्सा देखने को मिला और उन्होंने राजघाट पर मृतकों के शव रखकर हंगामा शुरू कर दिया। सूचना मिलने पर प्रशासनिक अधिकारी पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंचे तो उन्हें लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा। समाचार भेजे जाने तक राजघाट पर ग्रामीणों का हंगामा जारी था। वे शवों को नाव में रखकर प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारी मौके पर मौजूद हैं और ग्रामीणों का समझाने का प्रयास कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि प्रशासन की हठधर्मिता के चलते यह हादसा हुआ है। अगर उन्हें सरकारी नाव से जाने दिया होता तो यह हादसा नहीं होता।

हिन्दुस्थान समाचार 


 
Top