क्षेत्रीय

Blog single photo

धूमधाम से मनाया गया पंचम सिख गुरु अर्जुन देव का शहीदी दिवस.

16/06/2019

सचिन
कठुआ 16 जून (हि.स.)। सिखों के पंचम गुरु अर्जुन देव का शहीदी दिवस रविवार को मनाया गया। शब्द कीर्तन से ऐतिहासिक सावन चक गुरुद्वारा गूंज उठा। सैकड़ों श्रद्धालुओं ने लंगर का प्रसाद चखा। संगत ने छबील सेवा में योगदान दिया। इस दौरान गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान चरणजीत सिंह पोला ने बताया कि गुरु अर्जुन देव सिखों के पांचवें गुरू थे। लाहौर में मुगल बादशाह जहांगीर ने घोर शारीरिक यातनाएं देकर वर्ष 1606 ई. में रावी नदी में उन्हें बहा दिया। अर्जुन देव का शहीदी दिवस जिलेभर के विभिन्न गुरुद्वारों में मनाया गया। 
सावन चक स्थित गुरूद्वारा में सुबह 5 बजे से 10.30 बजे तक कथा कीर्तन का आयोजन किया गया। रागी भाईयों ने गुरवाणी पाठ से संगत को निहाल कर दिया और गुरु के जीवन पर प्रकाश डाला। गुरु अर्जुन देव की शहीदी को विस्तार से संगत के समक्ष रखा। शब्द कीर्तन व कथा के बाद लंगर का आयोजन किया गया जिसमें सैकड़ों श्रद्धालुओं ने लंगर का प्रसाद चखा। इसी के साथ गर्मी में राहगीरों की प्यास बुझाने के लिए शहर में जगह जगह मीठे जल की छबीलें लगाई गई। छबील लगाने में संगतों ने योगदान दिया। 
हिन्दुस्थान समाचार


 
Top