क्षेत्रीय

Blog single photo

उप्र में श्रमिक ट्रेनों के पहुंचने का आंकड़ा 1000 पार, 16 लाख प्रवासी पहुंचे यूपी

20/05/2020

- देश में सबसे ज़्यादा ट्रेनें मंगाने वाला राज्य हुआ यूपी
- एक हज़ार ट्रेनों से 16 लाख प्रवासी कामगार श्रमिक पहुंचे उप्र
- 27 हज़ार बसों के साथ यूपी सरकार पहले ही दिन से लोगों की सेवा में जुटी 

राजेश तिवारी
लखनऊ, 20 मई (हि.स.)। कोरोना महामारी में उत्तर प्रदेश सरकार की श्रमिकों व आमजन के प्रति संवेदनाएं पूरे विश्व के लिए प्रेरणादायी बनती जा रही है। योगी सरकार ने विभिन्न राज्यों से प्रवासी कामगारों व श्रमिकों की सकुशल वापसी के लिए अब तक 1000 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से लगभग 16 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित व सम्मानजनक तरीके से वापस ला चुकी है।

इतनी ही नहीं राज्य परिवहन की 12 हज़ार बसों से भी छह लाख से ज्यादा प्रवासी श्रमिक व कामगार घरों तक सुरक्षित पहुंचाए जा चुके हैं। प्रदेश में हर जिलाधिकारी को भी अलग से दो-दो सौ बसें यानी कुल 15 हजार बसें दी गई हैं।

सूचना निदेशक शिशिर सिंह ने बताया कि विभिन्न राज्यों से प्रवासी कामगारों व श्रमिकों को उत्तर प्रदेश वापस लेकर आ रहीं श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की संख्या आज एक हजार पार कर गई है।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने प्रवासी कामगारों व श्रमिकों की सुरक्षित एवं सम्मानजनक प्रदेश वापसी के निर्देश दिए हैं। इस ट्रेनों का किराया राज्य सरकार स्वयं वहन कर रही है।

डीआई ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर उत्तर प्रदेश सरकार सभी प्रवासी कामगारों और श्रमिकों को ट्रेन से निःशुल्क ला रही है। आगे भी विभिन्न राज्यों से जो भी श्रमिक लौटना चाहेंगे, उन्हें योगी सरकार सम्मानजनक ढंग से सुरक्षित और सकुशल प्रदेश वापस लाएगी। इसलिए अभी आने वाले समय में भी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के संचालन का सिलसिला जारी रहेगा।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top