अंतरराष्ट्रीय

Blog single photo

तेल टैंकरों के क्षतिग्रस्त होने से खाड़ी में बढ़ा तनाव, गुतरेस ने की संयम बरतने की अपील

15/06/2019

ललित
वाशिंगटन, 15 जून (हि.स.)। ओमान सागर में गुरुवार को तेल से भरे दो टैंकरों के क्षतिग्रस्त होने की दूसरी घटना के बाद अमेरिका और ईरान के बीच तनाव बढ़ गया है जबकि स्ट्रेट ऑफ होर्मुज से होते हुए ओमान सागर से इस जलमार्ग से जाने वाले तेल टैंकरों के सदस्य देशों की कंपनियों ने सावधानी बरतने का आग्रह किया है। इस जलमार्ग से करीबन 20 फीसदी तेल का आवागमन होता है।
अमेरिका के कार्यवाहक रक्षामंत्री पैट्रिक शहनान ने शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि इस घटना के बाद अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर एक वैश्विक सहमति बनाए जाने की ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि नार्वे और जापान के बाद सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात के तेल टैंकरों पर हमले की घटना के पश्चात अब ईरान के विरुद्ध सहमति बनाए जाने में कोई गुंजाइश नहीं रह गई है।
राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को फाक्स न्यूज़ से बातचीत में कहा कि ईरान ने ओमान सागर में तेल टैंकरों को क्षतिग्रस्त किया है।
खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट और वीडियो के अवलोकन के बाद उन्हें किंचित भी संदेह नहीं है जबकि ईरान ने इस घटना में उनका कोई हाथ होने से इनकार किया है।
दूसरी तरफ, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतरेस ने सुरक्षा परिषद की बैठक में तेल से भरे टैंकरों पर हमले की घटना की निंदा की है। उन्होंने कहा कि इस मामले की पूरी छानबीन होने तक संबद्ध पक्षों को संयम बनाकर रखने की ज़रूरत है। उन्होंने आगाह किया है कि इस समय विश्व खाड़ी में किसी बड़े संकट को झेलने को तैयार नहीं है। रूस ने भी पूरे मामले की छानबीन किए जाने की मांग की है।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top