राष्ट्रीय

Blog single photo

पीड़ित छात्रा ने फिर कहा, एक साल तक स्वामी चिन्मयानन्द ने किया मेरे साथ दुष्कर्म

09/09/2019

पीड़ित छात्रा ने फिर कहा, एक साल तक स्वामी चिन्मयानन्द ने किया मेरे साथ दुष्कर्म


- डीएम शाहजहांपुर पर पिता को धमकाने का आरोप 

अमित शर्मा 
शाहजहांपुर, 09 सितम्बर (हि.स.)। पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री व मुमुक्षु आश्रम के अधिष्ठाता स्वामी चिन्मयानंद पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाने वाली एलएलएम की छात्रा ने सोमवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए एक बार फिर स्वामी चिन्मयानंद पर एक साल तक दुष्कर्म और शारीरिक शोषण का आरोप लगते हुए  उन्हें तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की है। यही नहीं पीड़ित छात्रा ने शाहजहांपुर के डीएम पर आरोप लगाते हुआ कहा कि उसके पिता को धमकाया जा रहा है, इसलिए उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाए।

पत्रकारों से बातचीत के दौरान पीड़ित ने बताया कि स्वामी चिन्मयानन्द एक साल तक उसका शारीरिक शोषण और रेप करते रहे हैं। पीड़ित ने यह भी बताया कि उसके द्वारा दिल्ली पुलिस के लोधी रोड थाने में जीरो एफआईआर दर्ज कराई गई है जिसे शाहजहांपुर पुलिस को फॉरवर्ड किया था, मगर अभी तक यहां की पुलिस ने धारा 376 के तहत मुकदमा दर्ज नहीं किया। रविवार को पूछताछ के दौरान एसआईटी को भी उसने रेप के बारे में बताया था लेकिन अब तक न ही मुकदमा दर्ज हुआ है और न ही चिन्मयानंद को गिरफ्तार किया गया है। पीड़ित छात्रा का आरोप है कि एक तरफ वह अपनी जान बचाने के लिए घूम रही थी तो जब उसके पिता ने चिन्मयानंद के खिलाफ शारीरिक शोषण के आरोप में मुकदमे की तहरीर दी तो जिलाधिकारी ने उसके पिता को धमकी देते हुये कहा कि देख लो तुम किसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करा रहे हो। 

पीड़ित छात्रा ने कहा कि उसके पास सारे साक्ष्य मौजूद हैं और सही समय आने पर सभी के सामने साक्ष्य (विडियो क्लिप) पेश करेगी। वह कॉलेज हॉस्टल के जिस कमरे में रहती थी, उसे सील कर दिया गया है। उसे मीडिया के सामने खोला जाए। वीडियो वायरल करने के सवाल पर पीड़िता ने कहा कि उसने अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए ही वह वीडियो वायरल किया था, जिसमें उसने चिन्मयानंद से अपनी जान का खतरा बताया था। इस दौरान पिता ने भी पीड़ित बेटी की बातों का समर्थन करते हुए कहा कि एसआईटी उनसे और बेटी से 11-11 घंटे पूछताछ कर रही है जबकि अब तक न तो चिन्मयानन्द से पूछताछ की गई है और न उन्हें गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि जब उनके द्वारा एफआईआर दर्ज कराई जा रही थी तब शाहजहांपुर के डीएम का बर्ताव उनके प्रति ठीक नहीं था और उन्होंने कहा था कि तुमको पता है कि किसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करा रहे हो। पिता का कहना है कि चिन्मयानन्द के इशारे पर जिला प्रशासन चल रहा है। इसलिए शाहजहांपुर के डीएम के खिलाफ कार्यवाही करते हुए तत्काल उन्हें यहां से हटाया जाए। 

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top