- दुनिया देखेगी एक बेटी की मार्मिक कहानी 

नई दिल्ली, 24 दिसम्बर (हि.स.)। दिल्ली-एनसीआर के गांव खेकड़ा की बेटी
प्रज्ञा आर्य के वास्तविक जीवन पर आधारित हिंदी फीचर फिल्म 'घर चलो ना
पापा' महाराजा सूरजमल के बलिदान दिवस (25 दिसम्बर) पर शुक्रवार को दुनियाभर
में दिखाई जाएगी। मुख्यत: आर्य संदेश टीवी के साथ यह आधुनिक अन्य 17
प्लेटफार्म पर भी अपराह्न एक बजे से प्रसारित होगी।

अमेरिका एवं मॉरीशस के
लिए इसका विशेष प्रसारण होगा।

इस फिल्म के निर्माता तेजपाल सिंह धामा एवं निर्देशक सावन वर्मा हैं। इसमें
संगीत कुमार चंद्रहास हैदर ने दिया है और स्वर जावेद सईद एवं नेहा खंकरियाल
के हैं। अखिलेश पांडे, जिया दहिया, सुचित्रा सिंह, कृृष्णपाल भारत, प्रताप
वर्मा, शताक्षी राजपूत, काजल शर्मा, आयुष्य शर्मा इत्यादि मुख्य भूमिका
में हैं।

प्रज्ञा आर्य जन्म से मुस्लिम थी लेकिन उसकी सहेली की दुष्कर्म के
बाद मौत हो जाती है, जिसको इंसाफ दिलाने के लिए वह आठ वर्ष तक कानूनी लड़ाई
लड़ती है। अदालत से जीत होने के बावजूद उसे घर और समाज में से किसी का
साथ नहीं मिला। बाद में उसे खेकड़ा, बागपत के एक हिंदू परिवार ने पुत्री के
रूप में अंगीकार कर लिया, जो आजकल देहरादून में बीए फाइनल की छात्रा है।

प्रज्ञा आर्य का कहना है कि मैंने अपने जीवन पर फिल्म बनाने के लिए
केवल इसलिए अनुमति दी है, ताकि दुनियाभर की बेटियां सचेत और सतर्क रहकर
हरेक परिस्थिति का सामना करते हुए आगे बढ़ें और यह फिल्म इस कसौटी पर खरी
उतरेगी, ऐसा मुझे विश्वास है। प्रज्ञा आर्य का किरदार निभाने वाली काजल
शर्मा ने कहा कि वे प्रज्ञा के जीवन से प्रभावित हैं। यह फिल्म बेटी बचाओ
बेटी पढ़ाओ की थीम पर एक शानदार मूवी है।

हिन्दुस्थान समाचार
You Can Share It :