अपराध

Blog single photo

सब्जी की आड़ में तस्करी, 2 करोड़ की स्मैक के साथ दो गिरफ्तार

19/04/2020

- बरेली से तस्करी कर लाए थे स्मैक, एक तस्कर सहारनपुर का भी
- डीआईजी ने किया पुलिस टीम को 2500 रुपये इनाम देने का ऐलान

दधिबल यादव
देहरादून, 19 अप्रैल (हि.स.)। विकास नगर थाना क्षेत्र में पुलिस ने लॉक डाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं की आड़ में स्मैक की तस्करी किये जाने की घटना पर्दाफाश करते हुए दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से 500 ग्राम स्मैक बरामद हुई है, जिसका बाजार भाव करीब 2 करोड़ रुपये बताया जा रहा है। 

एसपी देहात प्रमेंद्र डोभाल ने आज यहां पत्रकारों को बताया कि पुलिस ने हरबर्टपुर स्थित ग्राउंड में खड़े एक ट्रक को चेक किया। उस समय ट्रक में मौजूद ताल्हापुर, सहारनपुर (उप्र) निवासी अशफाक अहमद और माजरी, थाना सहसपुर निवासी शेरदीन के कब्जे से 500 ग्राम स्मैक बरामद हुई। शेरदीन पूर्व में भी मादक पदार्थों की तस्करी के मामले में 3 बार जेल जा चुका है। यह लोग अत्यंत पेशेवराना तरीके से तस्करी कर रहे थे। ट्रक में हरी मिर्च के बोरे लदे थे और वाहन में आवश्यक सेवा का स्टीकर चस्पा किया हुआ था। 

सख्ती से पूछताछ करने पर शेरदीन ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान देहरादून तथा आसपास के क्षेत्रों में बरेली से स्मैक नहीं आ पा रही थी। इस पर शेरदीन ने अब्बास के जरिये ट्रक मालिक इमरान से सम्पर्क किया तो इमरान ने बताया कि उसका आढत का काम है और उसके पास ट्रक है, जिसमें आवश्यक सेवा का स्टीकर लगाकर सब्जी लेने के बहाने बरेली ले जाओ और स्मैक ले आओ। इस स्मैक को स्कूल-कालेज खुलने पर बच्चों एवं औद्योगिक क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों को ऊंचे दाम पर बेचकर मुनाफा कमाने की योजना थी। इमरान ने फोन पर बात करने के लिए मना किया था। उसने कहा कि अगर 3 आदमी ट्रक में जायेंगे तो पुलिस जगह-जगह पूछताछ करेगी। 

उसने बताया कि योजना के मुताबिक बरेली जाकर आवश्यक सेवा (सब्जी) की आड़ में फतेहगंज पश्चिमी बरेली के रहने वाले मामू नाम के व्यक्ति से कुल 500 ग्राम स्मैक खरीदी और पुलिस प्रशासन को चकमा देने के लिए ट्रक में मिर्च भरकर सब्जी की आड़ में स्मैक लेकर आये। हमारे बीच यह तय हुआ था कि ट्रक ड्राइवर मुझे धर्मावाला छोड़ देगा एवं स्वयं ट्रक लेकर सहारनपुर चला जायेगा और हमने ट्रक हरबर्टपुर एक ग्राउण्ड में खड़ा कर दिया। शनिवार की सुबह हरबर्टपुर से जाने के समय हमारी गाड़ी खराब हो गई। इंजन स्टार्ट नहीं हो पा रहा था, इसलिए पकड़े गए। 

एसपी ने बताया कि पूछताछ में पकड़े गए दोनों तस्करों एवं बरेली के तस्कर को भी विवेचना में शामिल करके गैंगस्टर एक्ट में भी कार्यवाही की जायेगी। आईजी गढ़वाल और एसएसपी देहरादून ने मामले का पर्दाफाश करने और आरोपितों की गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम को 2500 रुपये नकद इनाम की घोषणा की है।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top