अपराध

Blog single photo

यस बैंक की पीओएस मशीन से पौने तीन करोड़ की धोखाधड़ी

04/06/2019

 रमेश
झुंझुनू, 04 जून (हि.स.)। हरियाणा के पानीपत में स्थित यस बैंक की शाखा से एक गिरोह ने पीओएस मशीन के जरिए करीब दो करोड़ 80 लाख रुपए की धोखाधड़ी कर ली है। यह धोखाधड़ी आरोपितों ने महज एक सप्ताह में ही कर डाली। इस मामले में 21 मई को पानीपत के समालखा थाने में बैंक प्रबंधन की ओर से मामला दर्ज करवाने के बाद हरकत में आई पुलिस ने अब तक आधा दर्जन से अधिक युवकों को हिरासत में लिया है।
यह जांच आगे बढ़ते-बढ़ते झुंझुनू के चनाना गांव आ पहुंची है. जहां से हरियाणा के पानीपत जिले के समालखा थाने की पुलिस ने एक बंगाली डॉक्टर के बेटे को हिरासत में लिया और उसे अपने साथ पूछताछ के लिए ले गई है।
21 मई को समालखा थाने में मामला दर्ज करवाया गया था कि अज्ञात लोगों ने बैंक द्वारा दी गई पीओएस मशीन में एटीएम कार्डों के जरिए करीब दो करोड़ 80 लाख रुपए निकाल लिए। यही नहीं आरोपितों ने एटीएम कार्डधारी के बैंक अकाउंट में बैलेंस ना होने के बाद भी बड़ी राशि बैंकों से निकाल ली, जिसके बाद पुलिस ने जांच शुरू की तो अब तक आठ से 10 युवक रडार पर आए हैं जो एक साथ रहने वाले है। इन युवकों ने अपने ही साथियों के कार्डों के सहारे यह धोखाधड़ी की है।
इसी क्रम में झुंझुनू के चनाना गांव में बंगाली डॉक्टर दिलपुर कुमार रैगर के पुत्र दीपांकर को भी हरियाणा ले जाया गया है। हालांकि अभी तक हरियाणा पुलिस ने दीपांकर की गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं की है। चनाना आने वाले एएसआई दिलबाग और हैड कांस्टेबल राजेश ने भी इस मामले में कुछ भी कहने से इंकार किया है। वहीं सूत्रों की मानें तो आरोपितों ने एक बड़ी राशि दीपक टूर एंड  ट्रेवल्स कम्पनी के खाते में जमा की है जिसकी  जांच चल रही है।
हिन्दुस्थान समाचार


 
Top