व्यापार

Blog single photo

हीरो मोटोकॉर्प ने उत्पादन में बनाया कीर्तिमान

01/11/2019

हीरो मोटोकॉर्प ने उत्पादन में बनाया कीर्तिमान 


 मुंबई, 01 नवंबर (हि.स.)।
मोटर साइकिल व स्कूटर्स बनाने वाली हीरो मोटोकॉर्प कंपनी ने उत्तराखंड में स्थित हरिद्वार की अपनी उत्पादन सुविधा में संचयी उत्पादन में 25 मिलियन यूनिट्स का अनूठा आंकड़ा पार किया है। 

इस उत्पादन सुविधा की शुरूआत अप्रैल 2008 में हुई थी और इसने परिचालन के लगभग 11 वर्षों में इस मुकाम को हासिल किया है।   

कंपनी का दावा है, यह उद्योग जगत का एक रिकॉर्ड है। हीरो मोटोकॉर्प की हरिद्वार स्थित विश्व का सबसे बड़ा दुपहिया उत्पादन संयंत्र भी है, जिसकी प्रतिदिन उत्पादन क्षमता 9500 वाहनों की है। 

कंपनी के कार्यकारी निदेशक (परिचालन) व मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी विक्रम कस्बेकर के मुताबिक पूरी कंपनी के लिए यह एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। 

परिचालन की शुरूआत के बाद छोटी सी अवधि में हरिद्वार के संयंत्र में 25 मिलियन दुपहिया का उत्पादन हमारी टीम के समर्पण और सामर्थ्य का प्रमाण है। हरिद्वार स्थित उत्पादन सुविधा में विश्व का सबसे बड़ा ग्रीन-रूफ है, जो लगभग 4500 वर्गमीटर में फैला है। यह संयंत्र 1.95 मेगावाट सौर ऊर्जा पैदा करता है। इसका लिक्विड डिस्चार्ज शून्य है और यहां वर्षा जल संचयन के लिए तालाब है। 

इस संयंत्र में हीरो मोटोकॉर्प की लोकप्रिय मोटरसाइकल्स - HF डीलक्स, स्प्लेंडर+, स्प्लेंडर आईस्मार्ट 110, पैशन प्रो और पैशन 110 का उत्‍पादन किया जाता है। वर्तमान में हीरो मोटोकॉर्प के पास वैश्विक मान्यता वाली सात उत्पादन सुविधाएं हैं, जिनमें पांच भारत में, बांग्लादेश और कोलम्बिया में एक-एक हैं। 

भारत के संयंत्र हरियाणा के गुरूग्राम और दारूहेरा, राजस्थान में नीमराना, गुजरात में हलोल और उत्‍तराखंड के हरिद्वार में हैं। कंपनी की आठवीं उत्पादन सुविधा आंध्र प्रदेश के चित्तूर में आ रही है। वर्तमान में हीरो मोटोकॉर्प की संयुक्‍त स्थापित वार्षिक उत्पादन क्षमता लगभग नौ मिलियन यूनिट्स की है।

हिन्दुस्थान समाचार/विनय


 
Top