व्यापार

Blog single photo

सभी तरह के कर्ज पर ब्‍याज दर एक अक्‍टूबर से रेपो रेट से जोड़ें बैंक : आरबीआई

04/09/2019

प्रजेश शंकर

नई दिल्‍ली, 04 सितंबर (हि.स.)। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने एक अक्टूबर से सभी नए परिवर्तनशील दर वाले कर्ज पर ब्याज को रेपो रेट से जोड़ने का निर्देश बैंकों को दिया है। आरबीआई ने बैंकों को निर्देश दिया है कि वे होम लोन, ऑटो लोन के साथ एमएसएमई क्षेत्र (सेक्‍टर) को इससे जोड़ें। रिजर्व बैंक ने बुधवार को रेपो जैसे बाहरी बेंचमार्क के अंतर्गत ब्याज दरों में तीन महीने में एक बार अवश्‍य बदलाव करने को कहा है।

दरअसल, रिजर्व बैंक को इस बात से नाराजगी है कि रेपो दर में 0.85 फीसदी कटौती के बाद भी बैंक इसका फायदा ग्राहकों को नहीं दे रहे हैं। आरबीआई ने 2019 में रेपो रेट में चार बार कटौती की है, जिसमें कुल मिलाकर 1.10 फीसदी की कटौती रिजर्व बैंक ने अभी तक की है। आरबीआई अप्रैल से अभी तक 0.85 फीसदी तक की कटौती कर चुका है। रिजर्व बैंक का कहना है कि उसकी रेपो रेट में 0.85 फीसदी तक कटौती के बाद भी बैंकों ने अगस्त तक मात्र 0.30 फीसदी तक ही कटौती कर पाए हैं। इस बारे में बैंकों का कहना है कि उसकी देनदारियों की लागत कम होने में समय लगता है, जिसकी वजह से रिजर्व बैंक की रेपो रेट में कटौती का लाभ तुरंत ग्राहकों को देने में समय लगता है।

हिन्‍दुस्‍थान समाचार


 
Top