अंतरराष्ट्रीय

Blog single photo

अमेरिका-मेक्सिको के बीच आव्रजन समस्या का मुद्दा और गहराया.

06/06/2019

वाशिंगटन, 06 जून (हि.स.)। अमेरिका और मेक्सिको के बीच अवैध आव्रजकों के निर्बाध गति से अमेरिका आने का मामला गहराता जा रहा है। मेक्सिको सीमा से मई में 1,44,200 अवैध आव्रजकों के आने से अमेरिकी सीमा पर अवैध आव्रजकों के रहन- सहन, खान-पान और स्वास्थ्य आदि को लेकर दयनीय स्थिति बन चुकी है। प्रशासन ने क्षेत्र में आपात स्थिति लगाते हुए कहा है कि वह अभिभावकों की ग़ैर मौजूदगी में छोटे बच्चों के पालन-पोषण में असमर्थ है।
उधर व्हाइट हाउस में बुद्धवार को उप राष्ट्रपति माइक पेंस के नेतृत्व में मेक्सिको के विदेश मंत्री मार्सेलो एब्राड़ के बीच मेक्सिको सीमा पर सुरक्षा और अवैध आव्रजकों को प्रभावी रूप से रोके जाने के मुद्दे पर कोई समझौता नहीं हो सका। व्हाइट हाउस में डेढ़ घंटे तक चली बातचीत गुरुवार को भी जारी रहेगी। अमेरिकी अधिकारियों ने ज़ोर देकर कहा है कि मेक्सिको अल सलवाडोर और होंडूरस आदि सेंट्रल अमेरिका के अवैध आव्रजकों को अपनी सीमा में रोके। आव्रजन संरक्षण प्रोटोकोल के अधीन मेक्सिको को शरण लेने के इच्छुक आव्रजकों को तब तक रोका जाना चाहिए, जब तक वरीयताक्रम सूची के अनुसार नंबर नहीं आ जाता।

उधर मेक्सिको विदेश मंत्री ने आशा जताई है कि अमेरिका की ओर से सीमा शुल्क लागाए जाने की तिथि तक कोई न कोई फ़ैसला जो जाएगा। फिलहाल, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मेक्सिको को चेतावनी दी थी कि वह अपनी सीमाओं से सेंट्रल अमेरिकी-अल सलवाडोर और होंडूरस के अवैध आव्रजकों को आने से रोके, अन्यथा 10 जून से  मेक्सिको से आयातित माल पर पांच फीसदी सीमा शुल्क लगा देंगे, जो अक्टूबर तक बढ़कर 25 फीसदी तक हो सकता है।

हिन्दुस्थान समाचार/ललित/बच्चन

 

 
Top