राष्ट्रीय

Blog single photo

करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन से पहले पाकिस्तान की डर्टी पॉलिटिक्स

08/11/2019

-ऐतिहासिक गुरुद्वारे में लगाया भारतीय सेना के विरुद्ध बोर्ड
-कहा भारतीय सेना ने गुरुद्वारा साहिब पर गिराया था बम, जो कुएं में समा गया

संजीव शर्मा
चंडीगढ़, 08 नवम्बर (हि.स.)। करतारपुर साहिब कॉरिडोर के उद्घाटन से महज कुछ घंटे पहले पाकिस्तान ने एक बार फिर से डर्टी पॉलिटिक्स का प्रमाण देते हुए गुरुद्वारा परिसर के भीतर बोर्ड लगातार भारतीय सेना को कटघरे में खड़ा कर दिया है।
पाकिस्तान सरकार द्वारा गुरुद्वारा परिसर में बोर्ड लगाए जाने के बाद पाकिस्तानी मीडिया में भारतीय सेना के विरुद्ध प्रचार शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को करतारपुर साहिब कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे। दूसरी तरफ पाकिस्तान ने भी अपने अधिकार क्षेत्र में इससे संबंधित कार्यक्रम रखे हुए हैं। दोनों देशों में जहां तैयारियां पूरी हो चुकी है।
पाकिस्तान की तरफ से शुक्रवार सुबह फिर से नापाक हरकत करते हुए गुरुद्वारा परिसर के भीतर भारतीय हवाई सेना के विरुद्ध दो बोर्ड लगा दिए गए हैं। ऐतिहासिक गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के प्रवेश के साथ ही ऐतिहासिक कुएं के बाहर एक छोटे स्मारक पर भारतीय हथगोले को शीशे के फ्रेम में जड़कर रखा गया है।
इस हथगोले वाले स्मारक के बाहर लगाए गए बोर्ड पर पाकिस्तान ने लिखा है कि ‘यह गोला वर्ष 1971 में भारतीय सेना द्वारा गुरुद्वारा श्रीदरबार साहिब को नष्ट करने के लिए गिराया गया था, जिसे श्री खूह साहिब (पवित्र कुएं) ने अपनी गोद में ले लिया था। गुरुद्वारा, समाधि,मजार साहिब को नष्ट होने से बचा लिया गया। यह वही पवित्र कुआं है जिसके पानी का इस्तेमाल गुरुनानक देव जी अपने खेतों की सिंचाई के लिए करते थे।’ 
पाकिस्तान ने यह बोर्ड आज सुबह लगाया है जिसकी खबर कुछ ही पलों में करतारपुर कॉरिडोर के निकट भारतीय क्षेत्र में पहुंच गई। इसे लेकर पाकिस्तान जाने वाले संगतों में रोष के साथ-साथ इस स्थान को देखने के लिए उत्सुकता और बढ़ गई है।
हिन्दुस्थान समाचार


 
Top