अंतरराष्ट्रीय

Blog single photo

आईएमएफ प्रमुख - वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुधार की उम्मीद

19/05/2020

राकेश सिंह

नई दिल्ली, 19 मई (हि.स.)। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के प्रमुख ने कहा कि नोवल  कोरोनावायरस से वैश्विक अर्थव्यवस्था को लगे झटकों से पूरी तरह से उबरने में पहले लगाये गये अनुमान से अधिक समय लगेगा। उन्होंने संरक्षणवाद के खतरे के बढ़ने पर भी जोर दिया।

आईएमएफ प्रबंध निदेशक क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने कहा कि 2020 में वैश्विक जीडीपी में 3% संकुचन के पूर्वानुमान को संशोधित करने की संभावना हैलेकिन उसका कोई विवरण  नहीं दिया। यह भी संभावना है कि 2021 में 5.8% के आंशिक सुधार के आईएमएफ के पूर्वानुमान में बदलाव किया जाएगा।

एक साक्षात्कार में जॉर्जीवा ने कहा कि दुनिया भर के आंकड़े उम्मीद से बदतर आये हैं। जाहिर है, इसका मतलब है कि हमें इस संकट से पूरी तरह उबरने में ज्यादा समय लगेगा। उन्होंने अर्थव्यवस्था के फिर से सुधार के लिए कोई विशेष समय नहीं बताया।

जॉर्जीवा ने अप्रैल में कहा था कि कोरोनावायरस के प्रसार को धीमा करने के लिए दुनिया भर में लगाये गये लॉकडाउन से व्यापार बंद हो रहे हैं और इससे विश्व की अर्थव्यवस्था 1930 की महान मंदी के बाद से सबसे बड़ी मंदी में पहुंच जाएगी।

लेकिन इस महीने की शुरुआत में उन्होंने कहा कि तब से दर्ज किए गए आंकड़े और अधिक खराब खबरों की ओर इशारा करते हैं। आईएमएफ जून में नए वैश्विक अनुमान जारी करने वाला है।

अमेरिकी वित्त विभाग के अनुसार सात उन्नत अर्थव्यवस्थाओं के समूह के वित्त मंत्रियों की मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग से बैठक होने वाली है। पूरी दुनिया के लिए यह आकर्षण का एक बड़ा केंद्र बना हुआ है।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top