चुनावी विशेष

Blog single photo

झारखंडःसियासी पिच पर दो पूर्व मुख्यमंत्रियों की करारी हार

23/05/2019

वंदना

रांची, 23 मई (हि.स.)। झारखंड में सियासी फिजांं एक बार फिर रंग बदल चुकी है। राज्य की राजनीतिक पिच पर दो पूर्व मुख्यमंत्री समेत कई दिग्गज चुनाव में आउट हो गये।

दुमका लोकसभा संसदीय सीट से आठ बार जीत दर्ज कर चुके झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के अध्यक्ष और विपक्षी गठबंधन के उम्मीदवार शिबू सोरेन को भाजपा के सुनील सोरेन ने 36 हजार से अधिक मतों से शिकस्त दी। उल्लेखनीय है कि शिबू सोरेन ने चुनाव के दौरान कहा था कि यह चुनाव उनकी आखिरी राजनीतिक लड़ाई है।

शिबू पहली बार 1977 में लोकसभा के लिए चुनाव में खड़े हुए थे लेकिन पराजित हुए थे।1980 के चुनाव में वे लोकसभा चुनाव जीते। इसके बाद 1986, 1989, 1991, 1996 में भी चुनाव जीते। इसके अलावा वे 10 अप्रैल 2002 से 2 जून 2002 तक वे राज्यसभा के सदस्य रहे। 2004 में वे दुमका से लोकसभा के लिये चुने गये। 2005 में राज्य के मुख्यमंत्री बने।

कोडरमा संसदीय सीट से झारखंड विकास मोर्चा ( झाविमो ) के अध्यक्ष और विपक्षी उम्मीदवार के रूप में बाबूलाल मरांडी को फिर से हार का मुंह देखना पड़ा। राज्य के पहले मुख्यमंत्री बाबूलाल को इसबार अन्नपूर्णा देवी ने करीब चार लाख मतों से हराया। बाबूलाल मरांडी ने 2004 के लोकसभा चुनाव में कोडरमा सीट से जीत भी हासिल की थी। 2009 के लोकसभा चुनाव में झारखंड विकास मोर्चा ( झाविमो ) के उम्मीदवार के रूप में मरांडी ने जीत दर्ज की थी।

वहीं, सिंहभूम सीट से भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और पार्टी उम्मीदवार लक्ष्मण गिलुआ को कांग्रेस की गीता कोडा ने 72845 मतों से पराजित किया। 

2004 और 2009 में लगातार रांची संसदीय सीट से जीत दर्ज कर चुके कांग्रेस के सुबोधकांत सहाय को लगातार दूसरी बार हार का सामना करना पड़ा। इसबार फिर भाजपा के संजय सेठ ने उन्हें करीब दो लाख 75 हजार से अधिक मतों से हराया। गोड्डा में भाजपा के निशिकांत दूबे ने झाविमो के प्रदीप यादव को एक लाख 35 हजार से अधिक मतों से शिकस्त दी। वहीं, राजमहल से भाजपा के हेमलाल मुर्मू लगातार चौथी बार हार का सामना करना पड़ा। इसबार भी उन्हें 98658 मतोंं से झामुमो के विजय हांसदा के हाथों हार का सामना करना पड़ा। लोहरदगा संसदीय सीट पर कांग्रेस के सुखदेव भगत को भाजपा के केन्द्रीय मंत्री और उम्मीदवार सुदर्शन भगत ने 9459 मतों से हराया। बिहार की दरभंगा सीट से भाजपा उम्मीदवार के रूप में जीत दर्ज कराने वाले कीर्ति आजाद ने इस बार कांग्रेस का दामन थामा था। उन्हें धनबाद में भाजपा उम्मीदवार पशुपतिनाथ सिंह ने 390209 रिकॉड मतों से हराया।

हिन्दुस्थान समाचार


 
Top