Hindusthan Samachar
Banner 2 मंगलवार, अगस्त 21, 2018 | समय 06:22 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

दमनात्मक कार्रवाई के विरोध में सड़कों पर उतरे रोडवेज कर्मचारी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Aug 10 2018 2:59PM
दमनात्मक कार्रवाई के विरोध में सड़कों पर उतरे रोडवेज कर्मचारी

फतेहाबाद, 10 अगस्त (हि.स.)। रोडवेज कर्मचारियों द्वारा सात अगस्त की हड़ताल के दौरान चालक और अन्य कर्मचारियों को दिए गए सेवा भंग के नोटिस वापस करवाने और अन्य उत्पीड़न की कार्रवाइयों पर रोक लगाने की मांग को लेकर रोडवेज कर्मचारियों ने शुक्रवार को नेशनल हाईवे पर विरोध प्रदर्शन किया और सरकार की दमनात्मक कार्रवाई के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

प्रदर्शन के बाद रोडवेज कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति ने महाप्रबंधक के माध्यम से महानिदेशक को ज्ञापन भेजा। प्रदर्शन का नेतृत्व डिपो प्रधान सूरजभान चोपड़ा व मनोज ने संयुक्त रूप से किया। कर्मचारियों को संबोधित करते हुए संयुक्त संघर्ष समिति के वरिष्ठ नेता सरबत सिंह पूनियां एवं दीपक बल्हारा ने कहा कि राष्ट्रव्यापी सफलत हड़ताल के दबाव में केन्द्र सरकार मोटर व्हीकल संशोधित बिल को राज्यसभा में पास नहीं करवा पाई।

उन्होंने कहा कि यह कर्मचारियों के आंदोलन और सफल हड़ताल की जीत है। उन्होंने प्रदेशभर में 1628 हड़ताली चालकों को हड़ताल के दौरान दिए गए सेवा भंग नोटिस तुरंत वापस लेने व अन्य कर्मचारी नेताओं पर उत्पीड़न की कार्रवाई वापस लेने की मांग की। उन्होंने कहा कि किसी भी कर्मचारी के खिलाफ दमनात्मक कार्रवाई की गई तो उसी समय प्रदेश में हड़ताल करके पूर्ण चक्का जाम कर दिया जाएगा। कर्मचारियों को संघर्ष समिति नेता शिवकुमार श्योराण, सुरेन्द्र मलिक, वेदप्रकाश सहित अनेक रोडवेज नेताओं ने संबोधित किया।

डिपो प्रधान सूरजभान चोपड़ा ने कहा कि सरकार 700 प्राइवेट बसें ठेके पर लेने का निर्णय रद्द करे और विभाग में 14 हजार सरकारी बसें शामिल करें ताकि 84 हजार बेरोजगारों को रोजगार मिलने के साथ जनता को बेहतर परिवहन सेवा मिल सके। उन्होंने कर्मशाला सहित विभाग में खाली पदों पर पक्की भर्ती करने, कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, जोखिम भत्ता देने, खाली पदों पर पदोन्नति करने, पुरानी पेंशन स्कीम लागू करने सहित अन्य लंबित मांगों को भी तुरंत पूरा करने की मांग की।

हिन्दुस्थान समाचार/अर्जुन

image