Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, नवम्बर 19, 2018 | समय 06:06 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

12 साल बाद फीफा कप के फाइनल में पहुंचा फ्रांस

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jul 11 2018 12:32PM
12 साल बाद फीफा कप के फाइनल में पहुंचा फ्रांस

सेंटपीटर्सबर्ग, 11 जुलाई (हि.स.) । सैमुअल उमेटी के उत्तरार्ध के शुरू में एक मात्र गोल से फ़्रांस ने बेल्जियम को एक-शून्य गोल से हरा कर फ़ीफ़ा कप के फ़ाइनल में प्रवेश कर लिया है। नाइजेरिया के बाद टूर्नामेंट की सबसे कम उम्र की फ़्रेंच टीम के उमेटी ने खेल के 51वें मिनट में दाएं क्षोर के कारनर किक पर अपने फ़ॉर हेड से ख़ूबसूरत गोल किया था। कारनर किक साथी ग्रीजमैन के पास आई थी, उमेटी ने आगे बढ़कर फ़ोर हेड से गोल करने में कोई चूक नहीं की। बेल्जियम गोली टाइबोत कर्टियस हतप्रभ रह गया।

फ़्रांस ने सन 2006 के बाद पहली बार सेमीफ़ाइनल में प्रवेश किया है। इस से पहले राइट हाफ़ उमेटी ने खेल के पूर्वार्ध बेल्जियम के केविन डी ब्रुयने और लूकाके की हलचल पर बाल को क्लीयर कर ख़ूबसूरत बचाव किया था।

फ़ाइनल अगले रविवार को मास्को में खेला जाएगा। फाइनल में फ़्रांस का सामना इंग्लैंड और क्रोशिया के बीच खेले गए मैच में विजेता टीम से होगा।

इंग्लैंड और क्रोशिया के बीच दूसरा सेमीफ़ाइनल मैच बुधवार को होगा। इस फ़ाइनल में फ़्रांस जीतता है, तो 1998 में होम ग्राउंड पर ख़िताब जीतने के बाद यह जीत होगी।

गोल के समय फ़्रांस के राष्ट्रपति एमेनुएल मैक्रो विशिष्ठ दीर्घा में थे, और जैसे ही गोल हुआ, उन्होंने बेल्जियम के किंग फ़िलिफ और फ़ीफ़ा के चेयरमैन जियानी इंफेंटीनो से हाथ मिलाए और ख़ुशी ख़ुशी चल दिए। बेल्जियम इस से पूर्व 2014 में फ़ीफ़ा कप के क्वार्टर फ़ाइनल में पहुंची थी।

फ़्रांस और बेल्जियम के बीच कड़े मुक़ाबले में बेल्जियम को गेंद नियंत्रण और गोल करने के ज़्यादा और बेहतर मौक़े मिले, लेकिन भाग्य उसके साथ नहीं था। बेल्जियम के ईडेन हेजार्ड, केविन डी ब्रएन और रैमल लुकाके के खेल के दोनों हाल्फ में अच्छे हमलों को फ़्रांस के गोल रक्षक हूगो लोरिस ने बढ़िया बचाव किए।

बेल्जियम के कुछेक हमले फ़्रांस की रक्षा पंक्ति में राफ़ेल और उमेटी ने विफल किए, तो कुछ फ़्रांस के अनुभवी हूगो लोरिस ने बचाव किए। बेल्जियम ने छोटे-छोटे पास दिए और ज़्यादातर गेंद पर नियंत्रण किया और अपेक्षाकृत शाट भी अधिक लिए, पर भाग्य ने साथ नहीं दिया।

हिन्दुस्थान समाचार/ललित

image