Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, नवम्बर 18, 2018 | समय 13:59 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

''हिन्दू पाकिस्तान'' संबंधी थरूर के बयान से कांग्रेस का किनारा

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jul 12 2018 2:55PM
'हिन्दू पाकिस्तान' संबंधी थरूर के बयान से कांग्रेस का किनारा

नई दिल्ली, 12 जुलाई (हि.स.)। कांग्रेस ने अपने दिग्गज नेता शशि थरूर के बयान पर विपक्ष के तीखे हमलों को देखते हुए किनारा कर लिया है। पार्टी के अनुसार किसी भी धर्म विशेष पर इस तरह का आरोप नहीं लगाया जा सकता जैसा कि शशि थरूर ने लगाए हैं।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस नेता शशि थरूर ने बुधवार शाम तिरुवनंतपुरम में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘अगर भारतीय जनता पार्टी 2019 के लोकसभा चुनाव में जीतती है, तो इससे देश 'हिंदू पाकिस्तान' बन जाएगा।’

थरूर ने कहा कि भाजपा अगर 2019 के लोकसभा जीत जाती है, तो वह नया संविधान लिखेगी। फिर यह देश पाकिस्तान बनने की राह पर ही चल पड़ेगा। जैसे पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के अधिकारों का कोई सम्मामन नहीं किया जाता ठीक वैसे लोकतांत्रिक मूल्य खतरे में डाल कर भारत की सरकार व्यवहार करेगी।

उन्होंने कहा कि अगर भाजपा लोकसभा चुनाव में अपनी जीत को दोहराती है, तो इससे भारत में लोकतांत्रिक संविधान खत्म हो जाएगा, क्योंकि उनके पास भारतीय संविधान की धज्जियां उड़ाने और एक नया संविधान लिखने के सारे तत्व मौजूद हैं।

शशि थरूर ने कहा, 'भाजपा द्वारा लिखा गया नया संविधान हिंदू राष्ट्र के सिद्धांतों पर आधारित होगा, जो अल्पसंख्यकों के समानता के अधिकार को खत्म कर देगा और जो देश को हिंदू पाकिस्तान बना देगा। महात्मा गांधी, नेहरू, सरदार पटेल, मौलाना आजाद और स्वाधीनता संग्राम के महान सेनानियों ने इसके लिए लड़ाई नहीं लड़ी थी ये भी बताया जाएगा।’

थरूर के बयान पर कांग्रेस बचाव की मुद्रा में आ गई है। पार्टी प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा, ‘थरूर के बयान से कांग्रेस सहमत नहीं है| हम ये मानते हैं कि हमारा जो देश है वो सर्वधर्म संपन्न है| हम सबको एक ही तरह का सम्मान देते हैं। ऐसे में भारत वर्ष या हिन्दू धर्म एक विचारधारा तक सीमित नहीं रह जाएगी।

कांग्रेस नेता अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा कि भाजपा लोकतंत्र को कमजोर कर रही है।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस में ये परंपरा रहा है कि जिस बयान पर विवाद होने की संभावना हो पार्टी बयान से पल्ला झाड़ लेती है। इससे पहले भी कांग्रेस ने ठीक इसी तरह पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और मणिशंकर अय्यर के विवादास्पद बयानों से पल्ला झाड़ लिया था।

खास बात ये है कि थरूर ने ये बयान ठीक उसी दिन दिए जिस दिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अल्पसंख्यकों को साधने के लिए मुस्लिम बुद्धिजीवियों से मुलाकात की और बुद्धिजीवी मुसलमानों ने राहुल को सलाह दी कि वो मुसलमानों की बात न कर समुदाय की गरीबी और शिक्षा पर जोर दें।

हिन्दुस्थान समाचार/प्रीतकिरन

image