Hindusthan Samachar
Banner 2 मंगलवार, अक्तूबर 23, 2018 | समय 21:07 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

जन आहार आउटलेट के नफा-नुकसान से इत्तेफाक नहीं रखता रेलवे

By HindusthanSamachar | Publish Date: Aug 10 2018 3:56PM
जन आहार आउटलेट के नफा-नुकसान से इत्तेफाक नहीं रखता रेलवे

नई दिल्ली, 10 अगस्त (हि.स.)। देशभर में भारतीय रेलवे के 15 विभिन्न जोन में रेलयात्रियों को खान-पान की सुविधा मुहैया कराने के लिए कुल 53 जन आहार आउटलेट कार्यरत हैं। ये सभी आउटलेट लाइसेंस शुल्क के आधार पर निजी ठेकेदारों को दिए गए हैं, इसलिए इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज़्म कॉर्पोरेशन (आईआरसीटीसी) इन आउटलेटों के लाभ और हानि का ब्यौरा नहीं रखता है।

रेल राज्य मंत्री राजेन गोहेन ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 15 क्षेत्रीय रेलवे में कुल 53 आउटलेट हैं। इनमें मध्य क्षेत्रीय रेलवे में 8, दक्षिण पश्चिम क्षेत्रीय रेलवे में 6, पूर्व और पश्चिम मध्य क्षेत्रीय रेलवे में 5-5, पूर्व तट, उत्तर और दक्षिण क्षेत्रीय रेलवे में 4-4, पूर्वोत्तर सीमा , दक्षिण पूर्व और पश्चिम क्षेत्रीय रेलवे में 3-3, पूर्वोत्तर, उत्तर पश्चिम और दक्षिण मध्य क्षेत्रीय रेलवे में 2-2, पूर्व मध्य और दक्षिण पूर्व मध्य क्षेत्रीय रेलव में एक-एक हैं।

उन्होंने बताया कि इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज़्म कॉर्पोरेशन के अंतर्गत कुल 53 जन आहार आउटलेट कार्य कर रहे हैं। सभी जन आहार आउटलेट, निजी ठेकेदारों के माध्यम से इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज़्म कॉर्पोरेशन द्वारा संचालित किए जाते हैं। सभी जन आहार आउटलेट, लाइसेंस शुल्क के आधार पर निजी ठेकेदारों को प्रदान किए जाते हैं। इसलिए इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज़्म कॉर्पोरेशन (आईआरसीटीसी) इन आउटलेटों के लाभ और हानि का ब्यौरा नहीं रखता है।

हिन्दुस्थान समाचार/सुशील

image