Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, सितम्बर 20, 2018 | समय 22:01 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

गृह मंत्रालय ने बैंक आफ चाइना की दूसरी शाखा खोलने के प्रस्ताव को किया खारिज

By HindusthanSamachar | Publish Date: Jul 10 2018 4:04PM
गृह मंत्रालय ने बैंक आफ चाइना की दूसरी शाखा खोलने के प्रस्ताव को किया खारिज

नई दिल्ली, 10 जुलाई (हि.स.)। भारत और चीन के कारोबारी रिश्तों को बेहतर करने के लिए भारत सरकार द्वारा चीन को भारत में बैंक खोलने की अनुमति देने के सप्ताह भर के भीतर ही गृह मंत्रालय ने दिल्ली में बैंक आफ चाइना की शाखा खोलने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है।

इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब बैंक आफ चाइना की शाखा को लेकर गृह मंत्रालय से राय मांगी तो उसने इस प्रस्ताव को खारिज करने की बात कही। गृह मंत्रालय प्रस्ताव को खारिज इसलिए करना चाहता है क्योंकि मुंबई में जो बैंक ऑफ चाइना (आईसीबीसी) की शाखा है उसमें चीन के 11-12 नागरिक काम कर रहे हैं। यह नियमों का खुला उल्लंघन है क्योंकि बैंक को चीन के सिर्फ 3-4 नागरिकों को ही काम पर रखने की अनुमति है।

गृह मंत्रालय का यह भी कहना है कि ऐसे में जब आईसीबीसी भारत के नियमों का पालन ही नहीं करेगा तो उसे भारत की राजधानी में दूसरी शाखा खोलने की अनुमति नहीं दी जा सकती। विदेशी नागरिक जो की भारत में काम करने आते है उन्हें हर 6 महीने में यहां रहने के लिए पंजीकरण कार्यालय में रजिस्ट्रेशन कराना पड़ता है।

गृह मंत्रालय के मुताबिक चीन ने यहां भी नियमों का पालन नहीं किया है। चीन ने सिर्फ 4 कर्मियों के रजिस्ट्रेशन करा रखा है।

उल्लेखनीय है कि बैंक आफ चाइना दुनिया का सबसे बड़ा बैंक है। इसकी शाखाओं की बात जाए तो 42 देशों में आईसीबीसी की शाखा है। इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक आफ चाइना की स्थापना 1 जनवरी 1984 को बीजिंग में हुई थी।

हिन्दुस्थान समाचार /रवीन्द्र मिश्र

image