Hindusthan Samachar
Banner 2 मंगलवार, दिसम्बर 18, 2018 | समय 00:12 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

वोडाफोन-आइडिया सेल्युलर के विलय से 5000 कर्मियों के रोजगार पर संकट

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 16 2018 3:16PM
वोडाफोन-आइडिया सेल्युलर के विलय से 5000 कर्मियों के रोजगार पर संकट
नई दिल्ली, 16 अप्रैल (हि.स.)। रिलायंस जियो को टक्कर देने के मकसद से वोडाफोन और आइडिया सेल्युलर का विलय सिर्फ जियो के लिए बुरी खबर नहीं है बल्कि यह लगभग 5000 कर्मचारियों के लिए भी बुरी खबर लेकर आएगी। दोनों कंपनियों ने इन कर्मियों की छंटनी का भी संकेत दिया है। उल्लेखनीय है कि इन दोनों टेलिकॉम कंपनियों के विलय की प्रक्रिया अगले कुछ महीनों में पूरी हो सकती है। अगर मीडिया में आ रही खबरों पर भरोसा किया जाए तो इन दोनों कंपनियों के विलय के बाद जो नई कंपनी बनेगी, उसमें कुल 21,000 कर्मचारी होंगे जिनमें से एक चौथाई को बाहर करने की तैयारियां चल रही हैं। ये दोनों ही कंपनियां अपनी लागत को बचाने, काम के दोहराव को खत्म करने और दक्षता में सुधार करने की कोशिश कर रही हैं। दोनों कंपनियों ने मिलकर फैसला किया है कि अब उन्हें इतने सारे कर्मचारियों की जरूरत नहीं है। यह जानकारी मामले से अवगत एक सूत्र ने दी है। जानकारी के मुताबिक इन दोनों ही कंपनियों पर संयुक्त रूप से 01 लाख 20 हजार करोड़ का कर्ज है। इसी को देखते हुए इन दोनों कंपनियों के बीच विलय का प्रबंधन करने वाली नोडल टीम ने यह सलाह दी है कि अगले कुछ महीनों में कम से कम 5,000 कर्मचारियों की छुट्टी कर दी जाए। दोनों कंपनियों के विलय के बाद आइडिया और वोडाफोन एक ही नेटवर्क का उपयोग करेंगी। इससे दोनों कंपनियों के ग्राहकों को बेहतर कनेक्टिविटी मिल पाएगी। इस विलय के बाद दोनों कंपनियों के 38 करोड़ ग्राहक हो जाएंगे। कंपनियां अपने सर्किल और नेटवर्क का विस्तार करेंगी, जिसका फायदा दोनों कंपनियों के मौजूदा और नए ग्राहकों को होगा। विलय के बाद दोनों कंपनियां देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी हो जाएगी और कंपनी इस मौके को भुनाने के लिए नए-नए और आकर्षक ऑफर पेश करेगी। हिन्दुस्थान समाचार/प्रमोद/आकाश
image