Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, अक्तूबर 20, 2018 | समय 05:21 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

घोटाले की जद में आए पीएनबी को 13,417 करोड़ का घाटा

By HindusthanSamachar | Publish Date: May 16 2018 2:09PM
घोटाले की जद में आए पीएनबी को 13,417 करोड़ का घाटा
नई दिल्ली, 16 मई (हि.स.)। घोटाले की मार से उबरने की जद्दोजहज में लगे पंजाब नेशनल बैंक को वित्तीय वर्ष की चौथी तिमाही में तगड़ा झटका लगा है। इसे 31 मार्च को खत्म हुई तिमाही में 13,417 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। यह इस बैंक को किसी तिमाही में हुए घाटों में अब तक का सबसे बड़ा घाटा है। पिछले साल इस तिमाही के दौरान बैंक को 262 करोड़ रुपये का कुल मुनाफा हुआ था। उल्लेखनीय है कि वित्त वर्ष 2016-17 की इस तिमाही में बैंक को 261.90 करोड़ रुपये का लाभ हुआ था। चौथी तिमाही में बैंक की कुल आमदनी भी पिछले साल के मुकाबले 14,989.33 करोड़ रुपये से घटकर 12,945.68 करोड़ रुपये पर आ गई है। इस बीच बैंक ने कहा है कि 31 मार्च को खत्म हुई तिमाही के दौरान उसका प्रोविजंस और कंटेंजींसीज 20,353.10 करोड़ रुपये तक पहुंच गया। दिसंबर तिमाही में यह प्रोविजन 4,466.68 करोड़ रुपये था। पिछले साल इस तिमाही के दौरान यह 5,753.51 करोड़ रुपये का रहा था। ज्ञात हो कि प्रोव‍िजंस का मतलब खुद को उन चीजों के लिए तैयार रखना है जो बैंक अथवा कंपनी के ऑपरेशन पर असर डाल सकती हैं। कटेंजींसीज का मतलब खुद को उन घटनाओं या चीजों के लिए तैयार करना है, जिनके भविष्य में होने की संभावना है। उधर, पंजाब नेशनल बैंक के एनपीए अथवा बैड लोन में भी काफी ज्यादा बढ़ोतरी हुई है। 31 मार्च को खत्म हुई तिमाही में बैंक का कुल बैड लोन 18.38 फीसदी बढ़ा है। पिछले साल यह आंकड़ा इसी दौरान 12.53 फीसदी पर था। बैंक के शुद्ध एनपीए की बात करें तो इसमें भी इस तिमाही के दौरान 11.24 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। पिछले साल की बात करें, तो इस तिमाही में यह 7.81 फीसदी रहा था। उल्लेखनीय है कि इसी साल फरवरी में देश के दूसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक ने अपनी मुंबई स्थ‍ित एक शाखा में करीब 11,400 करोड़ रुपये का फ्रॉड होने की बात जाहिर की थी। हालांकि बाद में जैसे-जैसे परतें खुलीं, तो यह घोटाला 13 हजार करोड़ रुपये के भी पार निकल गया था। इस मामले में लगातार जांच जारी है| इसमें जांच एजेंसियों ने कई गिरफ्तारियां भी कर ली हैं। धोखाधड़ी के इस मामले के केंद्र में हीरा कारोबारी नीरव मोदी और गीतांजलि ज्वैलर्स से जुड़े मेहुल चौकसी हैं। हिन्दुस्थान समाचार/एमके प्रमोद/राधा रमण
image