Hindusthan Samachar
Banner 2 मंगलवार, अक्तूबर 16, 2018 | समय 23:38 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

अरुणाचल विधानसभा में अटल को भावभीनी श्रद्धांजलि

By HindusthanSamachar | Publish Date: Aug 27 2018 6:11PM
अरुणाचल विधानसभा में अटल को भावभीनी श्रद्धांजलि

इटानगर, 27 अगस्त (हि.स.)। पूर्व प्रधानमंत्री व भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने के साथ ही चार दिवसीय अरुणाचल प्रदेश विधानसभा का 16वां सत्र सोमवार से आरंभ हुआ। सुबह 10 बजे सत्र आरंभ होने के साथ ही विधानसभा अध्यक्ष टीएन थोनडोक ने वाजपेयी को श्रद्धांजलि देते हुए शोक संदेश व उनके सम्मान के बारे में सभा को बताते हुए पूर्व प्रधान मंत्री वाजपेयी की जीवनी पर प्रकाश डाला। सदन की कार्यवाही में भाग लेते हुए अपने शोक संदेश में भाजपा के विधायक जापू देरु ने कहा कि हमें रास्ता दिखाने वाले खासकर राजनीति के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण नेता को देश ने खोया है। वाजपेयी एक काल्पनाशील, देश और देश के लोगों के बारे में सोचने वाले नेता थे। उनकी इन्हीं खूबियों के चलते देख की जनता ने उन्हें 10 बार संसद सदस्य के रूप में चुना। जबकि वे तीन बार देश के प्रधान मंत्री बने और देश में अनेकों कल्याणकारी योजनाएं बनाकर हमें प्रेरित किया।

विधायक केनतो रिना, तागे ताकी ने अपने संबोधन में कहा कि जन्म और मृत्य जीवन का एक अभिन्न हिस्सा है। उन्होंने कहा कि देश में भारतीय जनता पार्टी जैसा बड़े राजनैतिक पार्टी को उन्होंने खड़ा किया, यह काफी महत्वपूर्ण बात है। विधायक पानी ताराम ने कहा कि वाजपेयी पहले व्यक्ति हैं जो देश की राष्ट्रभाषा हिन्दी में संयुक्त राष्ट्र संघ की बैठक को संबोधित किया। विधायक तेसाम पोंते ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी केवल देश के प्रधानमंत्री ही नहीं थे वे एक स्वतंत्रता सेनानी, कवि और मार्गदर्शक भी थे। उन्होंने अपने पूरे जीवन को देश के लोगों का सेवा में खपा दिया। पूरे देश को अपना घर और नागरिकों को अपना परिवार समझा। वाजपेयी की अनेक योजनाओं के कारण अरुणाचल प्रदेश को काभी फयदा हुआ है और राज्य के गांव-गांव तक सड़क स्कूल पहुंच गया है। इस दौरान अन्य कई विधायकों ने भी अपने-अपने विचार व्यक्त किए।

हिन्दुस्थान समाचार /तागू

image