Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, दिसम्बर 14, 2018 | समय 14:59 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

सियांग नदी में बढ़ते जलस्तर के कारण खतरे की चेतावनी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Aug 30 2018 1:34PM
सियांग नदी में बढ़ते जलस्तर के कारण खतरे की चेतावनी

इटानगर, 30 अगस्त (हि.स.)। अरुणाचल प्रदेश के पूर्वोत्तर क्षेत्र में बहने वाली सियांग नदी के जलस्तर में इजाफा देखा गया है। साथ ही नदी में असामान्य ऊंची-ऊंची लहरें उठने के कारण ईस्ट सियांग जिले के मेबो सब-डिवीजन के तहत लोवर मेबो की तरफ सियांग नदी के बाएं किनारे पर बड़े पैमाने पर भू -कटाव हो रहा है। प्रशासन ने बढ़ते जलस्तर को देखते हुए खतरे की चेतावनी जारी की है। नदी के किनारों पर बड़े पैमाने पर भू-कटाव के कारण जिले के सेराम गांव में कुल आठ घर पहले ही पानी में समा गए हैं। माना जा रहा है कि जल्द ही और घर भी भू-कटाव के कारण समाप्त हो जाएंगे। नदी के आसपास रह रहे लोग अपने घरों को छोड़ रहे हैं।

साथ ही अपने घरों का काम के लायक सामान बाहर निकाल रहे हैं। ताकि कहीं और पुनर्निर्माण के लिए सुरक्षित किया जा सके। वर्ष 2000 में चीन की प्रमुख नदी सियांग से आई बाढ़ के कारण हुए भू-कटाव के पुराने सेराम गांव (रामकू) का अस्तित्व समाप्त हो गया था। जिला प्रशान के अनुसार चीन द्वारा भारत सरकार को जारी किए गए एक सूचना में चीन द्वारा कहा गया है कि चीन में भारी बारिश के कारण सांगपो नदी का पानी तेजी से बढ़ रहा है जो पिछले 50 साल के रिकॉर्ड को पार कर रहा है। चीन में हो रही भारी बारिश के चारण सियांग और अन्य निचले क्षेत्रों के लोगों को सतर्क रहने के लिए प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है।

प्रशासन ने अपने संदेश में कहा है कि तिब्बत क्षेत्र में सियांग नदी (त्सांगपो) के ऊपरी किनारों में लगातार बारिश के कारण सियांग नदी खतरे की चेतावनी स्तर को पार कर गई है। सियांग नदी के किनारे के बोर्गुली, सेराम, नम्सिंग, मेर, सिगार इत्यादि जैसे गांवों में यह सूचना जंगल की आग की तरह तेजी से फैल रही है। जिसके कारण लोग डरे हुए हैं। इसका असर पड़ोसी राज्य असम में बहने वाली ब्रह्मपुत्र नद पर भी देखने को मिलेगा क्योंकि ब्रह्मपुत्र नद के पानी का मूल स्रोत सियांद नदी ही है।

हिन्दुस्थान समाचार/तागू

image