अपराध

नौकरी का झांसा देकर ठगी करने वाला दरोगा पुत्र और नकली एसटीएफ अधिकारी गिरफ्तार

12/05/2019

शरद
लखनऊ, 12 मई(हि.स.)। साइबर क्राइम सेल और विभूतिखंड थाना की पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई में नौकरी दिलाने के नाम पर जालसाजी करने वाले युवक को हिरासत में लिया है। पूछताछ हुई तो मालूम हुआ कि आरोपित के पिता पुलिस विभाग में उपनिरीक्षक पद पर कार्यरत हैं और वजीरगंज थाने पर ही ड्यूटी कर रहे हैं। वहीं एक दूसरी घटना में फर्जी एसटीएफ अधिकारी बनकर लोगों का कैश गायब करने वाले काे पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

हजरतगंज क्षेत्राधिकारी अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि नवयुवक युवतियों को नौकरी दिलाने के नाम पर जालसाजी करने वाले युवक की शिकायत मिली थी। जब इसकी जांच साइबर क्राइम सेल ने की तो रविवार को जालसाज युवक की लोकेशन विभूतिखंड क्षेत्र में मिली। इसके बाद दोनों टीम घेराबंदी कर उसे गिरफ्तार कर हजरतगंज ले आई। पूछताछ में आरोपित ने अपना नाम हर्ष विक्रम सिंह बताया। अभी उससे पूछताछ हो रही है और पुलिस मुकदमा पंजीकृत कर के आगे की कार्रवाई करेगी। 

रविवार को ही एक दूसरे मामले में एक फर्जी एसटीएफ अधिकारी को लोगों ने पकड़कर पुलिस को सौंपा। घटनाक्रम के अनुसार मध्य प्रदेश का रहने वाला मारु जाफरी फर्जी एसटीएफ अधिकारी बनकर लोगों के बैग चेक करता था और इसी दौरान बैग में से कैश गायब कर फुर्र हो जाया करता था।
 
रविवार को जब उसने एक व्यापारी को रोका तो उसे शक हुआ। शक होने पर व्यापारी ने उससे प्रश्न किया। इस पर वह भागने का प्रयास करने लगा। व्यापारी ने शोर मचाया और लोगों की मदद से उसे पकड़कर नाका थाना पर पहुंचाया। इसके बाद घटनास्थल वजीरगंज थाना क्षेत्र का होने के कारण उसे नाका थाने से वजीरगंज थाने पर भेज दिया गया। पूछताछ में उसने अपना नाम मारू जाफरी बताया। पुलिस के मुताबिक कुछ दिनों पूर्व हुए एक मामले में भी जाफरी का नाम सामने आया है। वजीरगंज थाना पुलिस मुकदमा पंजीकृत कर आरोपित से जांच कर रही है। 

हिन्दुस्थान समाचार